Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री के जीवन से लें प्रेरणा : जिलाधिकारी

0

महात्मा गांधी की 152वीं जयंती पर जिलाधिकारी एमपी सिंह ने रायफल क्लब सभागार में प्रातः 9:00 बजे महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित किया। जिलाधिकारी ने कहा कि सत्याग्रह तथा सविनय अवज्ञा आंदोलन के माध्यम से उन्होंने समाज के सभी वर्गों में आजादी की लौ प्रचलित की। महात्मा गांधी ने सत्य और अहिंसा का जो मार्ग दिखाया है वह देश में ही नहीं पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। इससे हमारे देश का गौरव आगे बढ़ रहा है।

डीएम एमपी सिंह कहा कि महात्मा गांधी एक ऐसे महापुरुष थे, जो अहिंसा और सामाजिक एकता पर विश्वास करते थे। उन्होंने भारत में ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने तथा सामाजिक विकास के लिए हमेशा संघर्ष किया। उन्होंने भारतीयों को स्वदेशी वस्तुओं के उपयोग करने के लिए भी प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि गांधी की जो भी परिकल्पना रही है, उन पर चलकर विभिन्न आयाम स्थापित किए गए हैं। 

गांधीजी की दूसरी परिकल्पना महिलाओं को आगे बढ़ाने की थी जो कि पूरी होती दिखाई दे रही है। हर क्षेत्र में महिलाएं बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। उन्होंने कहा आजादी का अमृत महोत्सव जो चलाया जा रहा है उसके लिए हमारे देश के वीरों ने बहुत कुर्बानियां दी है तब जाकर यह दिन आया है कि आज हम सभी आजादी का अमृत महोत्सव हर्षाल्लास के साथ मना रहे हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के मूल्यों को हम सभी को समझना चाहिए। जय जवान जय किसान का नारा वास्तव में यह नारा नहीं है, बल्कि उस समय की सेना के लिए यह बहुत बड़ी रणनीति थी। 

अगर हम महात्मा गांधी के सिद्धांतों को अपने जीवन में अमल करें तो न सिर्फ व्यक्ति का बल्कि पूरे समाज का विकास होगा। डीएम ने कहा शास्त्रीजी स्वतंत्रता आंदोलन में गांधीवादी विचारधारा के अनुसरण करते हुए देश की सेवा की और आजादी के बाद भी अपनी निष्ठा और सच्चाई में कभी कमी नहीं आने दी। शास्त्रीजी भारतीय राजनीति में बेहद सादगी पसंद और इमानदार व्यक्तित्व के स्वामी थे। उन्होंने कहा कि दोनों नेताओं के प्रति हमारी सच्ची श्रद्धांजलि होगी कि हम उनके बताए रास्ते का अनुसरण करें। 

अपर जिलाधिकारी विरा. अरूण कुमार सिंह ने कहा कि आज का यह दिन हम सब को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के आदर्शों सिद्धांतों व उनके सद् विचारों को अपनाने के साथ ही उनके पद चिन्हों पर चलने का अवसर प्रदान करता है।कार्यक्रम में जनपद के 2562 छात्र-छात्रोओ के खाते में छात्रवृत्रि की धनराशि रु. 56 लाख की धनराशि भेजी गयी जिसका प्रमाण पत्र जिलाधिकारी द्वारा उपस्थित छात्र-छात्राओ को दिया गया। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी (भूरा.) सुशील लाल श्रीवास्तव, समाज कल्याण अधिकारी राम विलास यादव, जिला दिव्यांग अधिकारी नरेन्द्र विश्वकर्मा, कपिलदेव राम आदि उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad