Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

सादात ब्लाक के ग्राम पंचायत का आया परिणाम, वोटों की गिनती जारी

0

इस बार कम बूथों वाले गांवों से मतगणना की शुरुआत बढ़ते बूथों के क्रम में होगी। सारे परिणाम आधी रात के बाद ही आ सकेंगे। डबल मुहर व अंगूठा लगे वोट निरस्त होंगे। जिला निर्वाचन अधिकारी मंगला प्रसाद सिंह ने कहा कि राज्य निर्वाचन आयोग की जारी गाइड लाइन का शत प्रतिशत पालन कराया जाएगा। कोरोना टेस्‍ट रिपोर्ट के साथ ही मतगणना स्‍थल पर जाने दिया जा रहा है। सादात ब्लाक के माहपुर ग्राम पंचायत से राधिका यादव, गहनी गांव से राजेश यादव व हिरानंदपुर से सनी पाल प्रधानपद हेतु चुने गये।

मतगणना के दौरान पर्यवेक्षक के नेतृत्व में तीन कर्मचारी काम करेंगे। तीनों कर्मचारी, जिला पंचायत सदस्य, ग्राम प्रधान, बीडीसी व ग्राम पंचायत सदस्य के मतपत्रों के अलग-अलग बंडल बनाएंगे। बंडल बनाते समय सभी प्रत्याशियों के एजेंट मौजूद रहेंगे। उनकी देखरेख में मतपत्रों की गिनती और बंडलिंग होगी। इसके बाद सभी बंडल एआरओ टेबल पर जाएंगे। जिला पंचायत सदस्य पद के बंडल आरओ को सीधे भेजे जाएंगे। जीतने वाले जिला पंचायत सदस्य पद का प्रमाण पत्र जिला मुख्यालय में आरओ देंगे।

ब्लाकों में ग्राम प्रधान, बीडीसी और ग्राम पंचायत सदस्य पद के जीत के प्रमाण पत्र ब्लाक के आरओ जारी करेंगे। जिस मतपत्र के पीछे पीठासीन अधिकारी का हस्ताक्षर व मुहर नहीं होगा तो उसकी गिनती नहीं होगी। ऐसे मत पत्रों को अलग रख जाएगा और यह मत पत्र अवैध माना जाएगा। उधर, मतगणना स्थल पर बिना कोविड जांच के प्रवेश न मिलने के आदेश के बाद स्वास्थ्य केंद्रों पर जांच कराने वालों की भीड़ लगी रही। बड़ी संख्या में लोग पाजिटिव पाए गए।

पूर्व सांसद की पत्नी व पूर्व प्रमुख की बहू के बीच सीधा मुकाबला

सैदपुर जिला पंचायत प्रथम की सीट पर प्रतिष्ठापरक लड़ाई होने से इस सीट पर हर किसी की नजर है। कासिमाबाद षष्ठम वार्ड नंबर 10 से निवर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष आशा यादव मैदान में हैं तो मनिहारी पंचम से डा. वंदना यादव पर लोगों की निगाहें हैं। सैदपुर : मेंघबरन सिंह हाकी स्टेडियम के प्रबंधक व पूर्व सांसद तेजबहादुर सिंह की मृत्यु ने इस सीट की चुनावी चर्चाओं पर विराम लगा दिया है। हालांकि राजनीतिक पंडित अपने-अपने हिसाब से परिणाम का कयास लगा रहे हैं।

बता दें कि सैदपुर जिला पंचायत प्रथम सीट पर करीब दस प्रत्याशी हैं लेकिन राजनीतिक पंडित सीधी लड़ाई मान रहे हैं सपा से अधिकृत उम्मीदवार पूर्व सांसद राधेमोहन सिंह की पत्नी अंजना सिंह एवं पूर्व ब्लाक प्रमुख रमाशंकर सिंह की बहू सपना सिंह के बीच। इन दोनों के अलावा इस सीट पर भारतीय जनता पार्टी ने बृजेश कुशवाहा को अपनी अधिकृत उम्मीदवार बनाया था तो बसपा ने सुनील यादव को।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad