Featured

Type Here to Get Search Results !

UP उपचुनाव के लिए बिछ रही चुनावी बिसात, जानें किन समीकरण पर लड़ेंगी पार्टियां

0

पहले जैसा वक्त अब नहीं है। सामान्य दिन होते तो बात और होती। अब कोरोना काल है। ऐसे में विधानसभा उपचुनाव के लिए सज  रही चुनावी बिसात पर इसका असर पड़ना तय है। कोरोना काल में आठ  सीटों पर उपचुनाव होना है। इस मिनी परीक्षा को वर्ष विधानसभा  चुनाव के लिहाज से खासा अहम माना जा रहा है। इसके अलावा भी इस बार का चुनाव जुदा सा होगा।

सोशल डिस्टेंसिंग का दौर है। कौन सीट पार्टी कोरोना के भय के बीच अपने वोटरों के बीच प्रचार कर पाती है और उन्हें वोट डालने के लिए तैयार कर पाती है। इन बातों का असर भी चुनाव नतीजों पर पड़ सकता है।

उपचुनाव में उठने वाले मुद्दों में कोविड 19 भी है। विपक्षी दल  इसके लेकर सत्तारुढ़ भाजपा को घेरते रहे हैं। ब्राह्मण सियासत व जातीय गोलबंदी के चुनावी तरकश के तीर हैं। सरकार का कामकाज भी अहम मुद्दा है। मुख्य विपक्षी पार्टी सपा इन चुनावों को लेकर खासी उत्साहित है। उसका मानना है कि इन चुनाव के नतीजों से जनता के थोडे़ बहुत मूड का संकेत मिल सकता है। इसलिए उसने इन सीटों पर जातीय समीकरणों के हिसाब से मजबूत प्रत्याशी उतारने की तैयारी की है।

 साल भर पहले भाजपा ने 8 सपा ने उपचुनाव में तीन सीटें जीती थीं

 पिछले साल विधानसभा उपचुनाव में सपा ने भाजपा से उसकी एक सीटिंग सीट छीन ली थी और बसपा की एक सीटिंग सीट पर उसने कब्जा किया था। एक सीट उसने खुद की बरकरार रखी थी। भाजपा ने इन चुनावों  8 सीटें जीत कर अपना प्रभुत्व बनाये रखा जबकि बसपा व कांग्रेस का खाता तक नहीं खुला था। 


Read More

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad