Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

गाजीपुर विद्युत विभाग का, 11 दिन बाद भी ठीक नहीं हुआ फाल्ट, किसानों को भुगतना पड़ रहा खामियाजा

0

गहमर पूर्वी पंप कैनाल को 24 घंटे बिजली देने के लिए स्वतंत्र उपकेंद्र का निर्माण किया गया है, लेकिन वहां हाइटेंशन लाइन का फाल्ट 11 दिन बाद भी नहीं सही हुआ। इससे पंप कैनाल से पानी की सप्लाई बंद हो गई है। लघुडाल एवं बिजली विभाग की लापरवाही का खामियाजा किसानों को भुगतना पड़ रहा है। नहर के सहारे धान की खेती करने वाले किसान पानी आने की राह देख रहे हैं। सिचाई के अभाव में किसानों की फसल खराब हो रही है। इससे उनमें आक्रोश पनप रहा है।

गहमर पूर्वी पंप कैनाल कभी बिजली तो कभी लघुडाल विभाग की उदासीनता का शिकार है। 18 सितंबर को पंप कैनाल को जाने वाली हाईटेंशन लाइन में फाल्ट हो गया, जो अब तक ठीक नहीं हो सका है। 20 क्यूसेक क्षमता वाली गहमर पूर्वी पंप कैनाल से बारा, मिश्रवलिया, रसूलपुर, पटकवलिया, सिकंदरपुर, रोइनी, मनिहरबुजुर्ग आदि मौजा के किसान नहर के माध्यम से खेतों की सिचाई करते हैं। फसलों की सिचाई के समय ही पंप कैनाल बंद होने से उनमें आक्रोश व्याप्त है। बारा के प्रगतिशील किसान एजाज खां, सरफराज खां, जियाउद्दीन खां, मतलूब खां, ओमकार यादव, महेंद्र यादव, जुबैर खां, दिनेश यादव सहित आदि ने बताया कि हर साल फसलों की सिचाई के समय गहमर पूर्वी पंप कैनाल बंद हो जाता है। 

कभी बिजली की समस्या तो कभी पंप कैनाल में मशीनों की खराबी बनी रहती है, जबकि हर साल पंप कैनाल की मरम्मत में लाखों रुपये खर्च हो जाता है। किसानों ने बताया कि दस दिन से पंप कैनाल पर स्थित स्वतंत्र उपकेंद्र को जाने वाली हाइटेंशन लाइन में फाल्ट है। विभागीय अधिकारी फाल्ट को ठीक कराने में हीलाहवाली कर रहे हैं।

गहमर पूर्वी पंप कैनाल का स्वतंत्र फीडर विभाग को हैंडओवर नहीं किया गया है। 33 हजार की लाइन में फाल्ट के कारण समस्या उत्पन्न हुई है। फीडर के अधिकारियों से समस्या दूर करने के लिए बात की गई है। जल्द ही समस्या का समाधान किया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad