Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

गाजीपुर: रेलवे के इलेक्ट्रिक लोको शेड, टावर वैगन व दोहरीकरण से परिवहन की उड़ान

0

वर्ष 2021 जनपदवासियों के लिए उम्मीदों भरा साबित होने जा रहा है। परिवहन में जहां एक ओर फोर लेन एवं सिक्स लेन का काम पूरा होने की उम्मीद है तो वहीं दूसरी ओर रेलवे के भी कई काम पूरे होंगे। रेलवे के इलेक्ट्रिक लोको शेड, टावर वैगन कारखाना एवं ताड़ीघाट से गाजीपुर रेल सह रोड ब्रिज के प्रथम फेज का काम पूरा होने की उम्मीद है। उधर, नंदगंज-गाजीपुर सिटी रेलवे स्टेशन का दोहरीकरण एवं विद्युतीकरण का काम पूरा होगा। वहीं रोडवेज पुरानी खड़ी बसों को ठीक कराकर चलाने की योजना पर काम कर रहा है।

कोरोना महामारी के दौरान जब लाकडाउन शुरू हुआ तो पूरी परिवहन सेवाएं थम सी गईं थीं। सड़कों पर सन्नाटा था तो रेल की पटरियों पर केवल मालगाड़ियां ही दौड़ रहीं थीं। अब न सिर्फ परिवहन सेवाएं बहाल होनी शुरू हो गई हैं, बल्कि कई योजनाएं इस साल पूरी होंगी। सड़कों का निर्माण शुरू हुआ और यात्री ट्रेनों का परिचालन शुरू हो गया। इसका असर भी दिखने लगा।

अप्रैल तक पूरा हो जाएगा सिक्स लेन का काम

जिले में मुहम्मदाबाद के हैदरिया के पास से शुरू हुई सिक्स लेन का काम काफी तेजी से हो रहा है। जनवरी में एक लेन चलने लगेगा। उम्मीद है कि उसका काम इस वर्ष अप्रैल के पहले पूरा हो जाएगा। नवंबर माह में अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने इस मार्ग का निरीक्षण कर इसे जनवरी तक एक लेन और अप्रैल तक सभी लेन के शुरू होने की उम्मीद जताई थी। माना जा रहा है कि इसके शुरू होने से लखनऊ की दूरी साढ़े तीन घंटे और दिल्ली तक की दूरी आठ घंटे में तय की जा सकेगी।

वर्ष 2021 के अंत तक पूर्ण हो जाएगा रेल सह रोड ब्रिज

गंगा नदी पर बन रहे रेल सह रोड ब्रिज का 14 नवंबर वर्ष 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिलान्यास किया था। कार्य भी काफी तेजी से चल रहा है, लाकडाउन व कोरोना वायरस के कारण करीब आठ से नौ माह तक कार्य बाधित रहा। हालांकि अब कार्य काफी तेज गति से चल रहा है। 1766 करोड़ की लागत से चल रहा यह कार्य दो फेज में चल रहा है। प्रथम फेज में दिलदारनगर से ताड़ीघाट होते हुए गाजीपुर घाट स्टेशन तक नई रेल लाइन बिछाई जाएगी। इसमें गंगा नदी पर बन रहा रेल सह रोड ब्रिज भी है। दूसरे फेज में गाजीपुर घाट से मऊ तक नई रेल लाइन बिछाई जानी है। प्रथम फेज का कार्य काफी तेजी से चल रहा है। उम्मीद है वर्ष 2021 के अंत तक प्रथम फेज का कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा। वाराणसी मंडल के जनसंपर्क अधिकारी अशोक कुमार ने बताया कि रेल सह रोड ब्रिज के अलावा सैदंपुर में इलेक्ट्रिक लोको शेड, दुल्लहपुर में टावर वैगन कारखाना एवं नंदगंज से गाजीपुर रेल लाइन का दोहरीकरण एवं विद्युतीकरण का कार्य पूरा हो जाना है।

पुरानी बसें तय करेंगी नई राहें

रोडवेज में नई बसें तो आने की उम्मीद नहीं है इसलिए पुरानी खड़ी बसों को ही मेंटेन करके ही चलाने का निर्णय लिया है। सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक वीके पांडेय ने बताया कि लंका मैदान में 24 बसें रोडवेज की पुरानी खड़ी हुई हैं जिसमें 12 बसों को मेंटेन कर चलाने का निर्णय लिया गया है। इसके अलावा उन मार्गो पर भी बसों को चलाया जाएगा जिन मार्गो पर बसों का परिचालन नहीं होता है। बाराचवर एवं कासिमाबाद आदि मार्ग पर बसों को चलाया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad