Type Here to Get Search Results !

मंगलवार देर रात गाजीपुर में मां ने बेटा-बेटी की हत्या कर खुद को भी लगाई आग

0

जंगीपुर थाना क्षेत्र के तारनपुर गांव में मंगलवार देर रात पारिवारिक कलह के चलते महिला ने मासूम बेटा और बेटी की गला दबाकर हत्याकर दी। बाद में खुद पर केरोसिन छिड़ककर आग लगा ली। देर रात घर से धुंआ और आग की लपटें देखकर पड़ोसी पहुंचे और महिला को जलता देखकर शोर मचाया। आनन-फानन में जल रही महिला पर कंबल डालकर आग बुझाई और अस्पताल पहुंचाया। आग से दोनों बच्चे भी झुलस गए थे। सूचना पर पहुंची पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

तारनपुर निवासी श्रवण कुमार अपने भाई के साथ कोलकाता में ट्रक चलाता है। उसकी शादी सात साल पहले शादियाबाद थाना क्षेत्र के पतरा गांव निवासी संगीता से हुई थी। 24 सितंबर को श्रवण दादी की तेरहवीं में आया था और फिर कोलकाता लौट गया। बताया जा रहा है कि मंगलवार रात श्रवण से फोन पर पत्नी संगीता का किसी बात को लेकर बहस हुई और फिर वह दोनों बच्चों दीपांजलि (5) और दिव्यांशु (3) के साथ खाना खाकर कमरे में चली गई। देर रात अचानक श्रवण के घर से चीखने की आवाज सुनकर पड़ोसी दौड़े तो संगीता को आग की लपटों से घिरा पाया। घर में भी आग से कपड़े और सामान जल रहे थे। आनन फानन में पड़ोसियों ने आग बुझाने और संगीता को बचाने का प्रयास किया। 

संगीत अचेत थी जबकि दोनों बच्चों की मौत हो चुकी थी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने संगीता को अस्पताल में भर्ती कराया लेकिन देर शाम तक उसकी हालत में सुधार नहीं था। एसपी डाक्टर ओपी सिंह के साथ एसपीसिटी और सीओ ओजस्वीचावला घटनास्थल पर पहुंचे और हालातों का जायजा लिया। दोनों बच्चों के शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मुखिया श्रवण को फोन कर घटना की सूचना दी गई तो वह कोलकाता से चल दिया। पुलिस के अनुसार प्रथम दृष्टया मामला पारिवारिक कलह में बच्चों की गला दबाकर हत्या करने के बाद खुद को आग लगाकर आत्महत्या करने का प्रतीत हो रहा है। पुलिस के अनुसार हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही तस्वीर साफ होगी। परिजनों ने बताया कि हादसे के समय दोनों मासूम विस्तर पर मृत अवस्था में थे और कम झुलसे थे। उनके गले पर भी निशान था।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad