Featured

Type Here to Get Search Results !

CM योगी 9 दिन व्रत रहकर करेंगे शक्ति आराधना, गोरखनाथ मंदिर में प्रधान पुजारी करेंगे कलश स्‍थापना

0

मुख्यमंत्री गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ चैत्र नवरात्र पर 9 दिन व्रत रख मां दुर्गा के 9 रूपों की आराधना करेंगे। इस दौरान सीएम देश और प्रदेश में सुख, शांति, आरोग्य और समृद्धि के लिए विशेष अनुष्ठान करेंगे। हालांकि गोरखनाथ मंदिर के शक्ति मंदिर में सीएम की अनुपस्थिति में प्रधान पुजारी योगी कमलनाथ घट स्थापना करेंगे। संभावना व्यक्त की जा रही है कि अष्टमी और नवमी पूजन में सीएम शामिल होंगे।

योगी आदित्यनाथ, नाथपंथ की सबसे बड़ी संस्था अखिल भारत वर्षीय अवधूत भेष बारह पंथ योगी महासभा के अध्यक्ष भी हैं। नाथ पंथ और गोरक्षपीठ भगवान शिव को अपना अराध्य मानता है। लेकिन शैव मतावलम्बी होने के बावजूद गोरक्षपीठ में मां दुर्गा, राम दरबार, बजरंग बली, मां काली, भगवान श्रीकृष्ण समेत विभिन्न देवी देवताओं के मंदिर एवं प्रतिमाएं प्रतिष्ठित हैं।

यह पहली बार नहीं है कि सीएम घट स्थापना में शामिल नहीं होंगे। नवरात्र के 9 दिन गोरखनाथ मंदिर में ही रहने की पीठाधीश्वर की परम्परा 2014 में नंदानगर में हुए रेल हादसे के दौरान टूटी थी। तब योगी परम्परा तोड़ कर घटनास्थल पर पहुंचे थे। मंदिर सचिव द्वारिका तिवारी कहते हैं कि मंदिर में कालांतर से सभी देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना होती रही। पहले दीवारों में मूर्तियां थीं। 1974 में हुए बड़े आयोजन में जिसमें देवरहा बाबा, शंकराचार्य समेत देश के संत-महात्मा शामिल हुए। उसी साल देवी-देवताओं के मंदिर बने और मूर्तियां स्थापित की गईं। नाथपंथ हमेशा से लोकहित के लिए समर्पित रहा जहां मानवता की सेवा सर्वोपरि है।

 

शक्ति मंदिर में आज मां शैलपुत्री की अराधना

गोरखनाथ मंदिर में मठ के प्रथम तल स्थित शक्ति मंदिर, मंदिर परिसर स्थित दुर्गा मंदिर और हनुमान मंदिर परिसर में रामायण पाठ मंगलवार से शुरू होगा। शक्ति मंदिर में कलश स्थापना कर मंदिर के प्रधान पुजारी योगी कमलनाथ मां शैलपुत्री की अराधान करेंगे। इसके अलावा गोरक्षपीठ के मंदिर मानसरोवर मंदिर में कलश स्थापना कर मां शैलपुत्री की अराधान की जाएगी। इसके अलावा मां मंगला देवी मंदिर बेतिहायाता में भी घट स्थापना कर मां शैलपुत्री की अराधना होगी। मंदिर के सचिव द्वारिका तिवारी बताते हैं कि गोरखनाथ मंदिर, मंगला देवी मंदिर और मानसरोवर मंदिर में हर दिन दुर्गा सप्तशती का पाठ 11-11 पंडित करेंगे। सोनबरसा स्थित शिव मंदिर पर भी नवरात्र में रामचरित्र मानस का रामायण पाठ का आयोजित होगा।


रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक श्रद्धालुओं का प्रवेश बंद

मंदिर के सचिव द्वारिका तिवारी ने बताया कि कोविड 19 के संक्रमण के मद्देनजर गोरखनाथ मंदिर, मंगलादेवी मंदिर, मानसरोवर मंदिर और शिव मंदिर सोनबरसा में श्रद्धालुओं का प्रवेश रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक वर्जित रहेगा। बिना मास्क और सैनेटाइजर इस्तेमाल के श्रद्धालु मंदिर में प्रवेश नहीं कर सकेंगे। किसी भी प्रतिमा को स्पर्श नहीं कर सकेंगे, टीका भी नहीं लगाया जाएगा। सोशल डिस्टेंसिंग के साथ थोड़ी थोड़ी संख्या में ही प्रवेश पा सकेंगे। हालांकि प्रशासन ने एक बार सिर्फ 5 श्रद्धालुओं को ही प्रवेश देने का निर्णय लिया है।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad