Featured

Type Here to Get Search Results !

गाजीपुर : रविवार को आरपीएफ ने पकड़ी ई-टिकट की कालाबाजारी, दो गिरफ्तार

0

कोविड-19 स्पेशल ट्रेनों में आरक्षण को लेकर बाजार के इंटरनेट दुकानों में धड़ल्ले से हो रही टिकट की कालाबाजारी को लेकर गाजीपुर आरपीएफ इंस्पेक्टर उदय राज के साथ में टीम ने छापामार कार्रवाई की। टीम ने रविवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए ई-टिकट के ब्लैक मार्केटिंग में दो युवकों को शहरी क्षेत्र से गिरफ्तार किया। आरपीएफ इंस्पेक्टर को किसी यात्री ने रेल प्रशासन से टिकट की कालाबाजारी होने की शिकायत की थी। इधर आरपीएफ के इस छापेमारी से शहर के तमाम इंटरनेट एवं कैफे के दुकानों में हड़कंप मच गया।

रेलवे सुरक्षा बल थाना गाजीपुर सिटी के प्रभारी निरीक्षक उदय राज ने बताया कि गाजीपुर में ई-टिकट की कालाबाजारी और ऊंचे दामों पर ब्रिकी का मामला की सूचना मिली। पता चला कि सदर कोतवाली के टेढ़ीबाजार मुहल्ला में स्थित हरिओम स्टूडियों से अवैध रूप से रेलवे ई-टिकट का काम करता है। दुकान मालिक विनोद कुमार वर्मा और विशाल वर्मा को आईआरसीटीसी की साइट पर पर्सनल यूजर आईडी बनाकर रेल टिकटों को जारी कररहा है। कई यात्रियों को टिकट दिया और अब भी टिकट की काला बाजारी कर रहा है। टीम ने सूचना के बाद छापामार कार्रवाई की तो अवैध व्यापार करते दोनों को गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से कुल 5 ई-टिकट जिन पर यात्रा शेष है और लगभग दो दर्जन ई-टिकट यात्रा के बाद के बरामद हुए। 

टीम ने दोनों को गिरफ्तार कर गाजीपुर रेसुब पोस्ट पर लाकर पूछताछ की तो पूरा मामला सामने आ गया। उनके नेटवर्क का पता चलने पर आरपीएफने रेल अधिनियम की धारा-143 के तहत मुकदमा पंजीकृत कर जेल भेज दिया। इसके बाद एएसआई ने दोनों को वाराणसी कोर्ट में पेश किया। पोस्ट इंस्पेक्टर उदय राज के साथ उप निरीक्षक गुलाब सरोज समेत उप निरीक्षक अरविंद कुमार यादव हेड कांस्टेबल मोहम्मद गुफरान, संजय राय, कांस्टेबल वासुदेव, कांस्टेबल विकास कुमार पांडेय तथा सीआईबी वाराणसी के केके पांडेय, सुमित खरवार आदि शामिल रहे।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad