Ghazipur: मौसम गड़बड़ाया, कहीं बारिश तो कहीं पड़े ओले - Dildarnagar News | Ghazipur News✔ ग़ाज़ीपुर न्यूज़ | लेटेस्ट न्यूज़ इन हिंदी ✔

Breaking News

Tuesday, 28 April 2020

Ghazipur: मौसम गड़बड़ाया, कहीं बारिश तो कहीं पड़े ओले


गाजीपुर: नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में मंगलवार की सायं मौसम का मिजाज गड़बड़ा गया। कहीं तेज हवाओं के बाद हुई बारिश तो कहीं जबरदस्त ओले पड़ने से फसलों को नुकसान पहुंचाया। सबसे अधिक क्षति सब्जी एवं खेतों में खड़ी गेहूं की फसलों को हुआ। वहीं आम के टिकोरों को भी काफी नुकसान हुआ।

पिछले कुछ दिनों से आसमान पर बादलों की आवाजाही बनी हुई है। मंगलवार की शाम अचानक आसमान पर काले घने बादल छा गए और तेज हवाएं चलने लगीं। कुछ देर बार बूंदाबांदी शुरू हो गई। अचानक हुए बदलाव से मौसम सुहाना हो गया। करीब आधा घंटा हुई बारिश से नगर में जलजमाव हो गया जिसके चलते आवागमन में दिक्कतों का सामना करना पड़ा। 

मुहम्मदाबाद: नगर सहित ग्रामीण इलाकों में आंधी के बीच बारिश से फसलों की मड़ाई का कार्य ठप पड़ गया। करीमुद्दीनपुर क्षेत्र के करइल स्थित कई गांवों में जबरदस्त ओला व बारिश पड़ने से प्याज व सब्जियों की खेती को नुकसान पहुंचा है। 

भांवरकोल: तेज आंधी से राष्ट्रीय राजमार्ग-31 पर मिर्जाबाद मनिया चट्टी के पास दो स्थानों पर पीपल का पेड़ गिरने से कुछ देर के लिए आवागमन बाधित रहा। एक पेड़ मिर्जाबाद स्थित यूनियन बैंक मोड़ के पास सीताराम के पान की दुकान पर गिरा जिससे गुमटी क्षतिग्रस्त हो गई। वहीं दूसरा पेड़ टोडरपुर मोड़ के पास गिरा इससे कोई नुकसान नहीं हुआ। वहीं मिर्जाबाद स्थित एक निजी विद्यालय के भवन का करकट उड़कर सड़क पर जा गिरा। तेज आंधी से आम के पेड़ों पर लगने वाले टिकोरे गिर पड़े। वहीं खेतों में पड़े गेहूं सहित अन्य फसलों के बंधे बोझ तथा खेत में काटकर छोड़ी गई फसलें भीग जाने से मड़ाई कार्य में बाधित हो गया। खेतों में चल रहे हार्वेस्टर जहां कार्य कर रहे थे वहीं खड़े कर दिये गए। 

लौवाडीह: तेज हवा के साथ अतिवृष्टि और ओलावृष्टि ने किसानों को बर्बाद कर दिया। ओलावृष्टि से प्याज व खेतों में खड़ी गेंहू की फसल नष्ट हो गयी, वहीं सब्जियों की खेती को भी काफी नुकसान पहुंचा है। सब्जियों के खेतों में पौधे का कहीं अता-पता नहीं था। खलिहान में भी पानी लग गया है। अब किसानों की मड़ाई भी काफी पिछड़ जाएगा। खेतों में प्याज के ढेर भी में भी पानी पहुंच गया है।

No comments:

Post a comment