Type Here to Get Search Results !

आपका Phone सिर्फ अपनों के लिए लॉक, जाने-अनजाने निजी जानकारी आप खुद ही कर रहे साझा

0

क्या आपको पता है कि आपका फोन लॉक सिर्फ अपनों के लिए है। दरअसल, फोन पर लॉक कुछ भी नहीं है। अगर आप सोच रहे हैं कि चार डिजिट का पिन या आड़ी तिरछी रेखाएं खींचकर सब कुछ छिपा सकते हैं तो यह गलतफहमी है। आप अपने मोबाइल से कुछ भी करते हैं/ उसमें कुछ भी रखते हैं तो वह कहीं न कहीं दर्ज हो रहा है। आप कुछ भी सर्च करते हैं तो उसका लिंक आपके होम पेज पर बना रहता है। कोई भी एप डाउनलोड करते समय भी फोटो, कॉन्टैक्ट व मैसेज एक्सेस करने की परमीशन आप ही देते हैं।

आपने कभी गौर किया है कि किसी व्यक्ति के बात करने पर ही फेसबुक पर फ्रेंड सजेशन लिस्ट में उसका नाम दिखने लगता है। किसी उत्पाद की बात करने पर यूट्यूब और फेसबुक पर उससे संबंधित वीडियो व पेज नजर आने लगते हैं। यह संयोग नहीं है बल्कि अप्रत्यक्ष रूप से स्मार्टफोन की जासूसी है। स्मार्टफोन का माइक्रोफोन 24 घंटे आप की बातों को सुनकर सर्वर पर संरक्षित करता है और उसे इंटरनेट प्रदाता कंपनियां विभिन्न कंपनियों को बेच देती हैं। इसके बाद आपके पास विज्ञापनों और वीडियो की लाइन लग जाती है।

नया बिजनेस मॉड्यूल है यह
सेंटर फॉर रिसर्च ऑन साइबर क्राइम एंड साइबर लॉ के चेयरमैन अनुज अग्रवाल कहते हैं कि इसमें चौंकने वाली कोई बात नहीं है। दरअसल, यह नामी कंपनियों की नए बिजनेस मॉड्यूल का हिस्सा है। जो कुछ आपको लगता है कि आप फ्री में पा रहे हैं उसके लिए कंपनियों ने मोटा निवेश किया है। अब इस बिजनेस मॉडल के जरिए उसको वसूला जा रहा है। वॉइस टू टेक्स्ट और विभिन्न एप्लीकेशन इसके टूल हैं।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad