Featured

Type Here to Get Search Results !

मिर्जापुर के एक गांव में 6 महीने बाद ससुराल आई महिला को मासूम संग घर से निकाला, जानिए वजह

0

दहेज प्रताड़ना के मामला दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं। मिर्जापुर के जिगना थाना क्षेत्र के बजटा गांव में एक ऐसा ही मामला सामने आया। ससुरालियों ने विवाहिता को घर से बेघर कर दिया। विवाहिता अपने तीन साल के बच्चे के साथ घर से कुछ दूर गांव के एक मंदिर पर गुमसुम बैठी मिली।

प्रयागराज जिले के मांडा थाना क्षेत्र के मोनाई गांव निवासी रंजना की शादी चार वर्ष पूर्व जिगना के बजटा गांव निवासी स्व. लल्लूराम गुप्ता के लड़के सुधीर गुप्ता के साथ हुयी है। रंजना का पति मुबंई में नौकरी करता है। बीते छह महीने से विवाहिता अपने मायके में रह रही थी। रविवार देर शाम वह अपने तीन साल के बच्चे के साथ ससुराल पहुंची। परिवारवालों के तेवर देख उसके पैरों तले जमीन खिसक गई। ससुरालियों ने विवाहिता को उसके बच्चे संग घर से बाहर निकाल दिया। सूचना पर पहुंची पीआरवी ने परिजनों को समझाने का प्रयास किया। इसके बावजूद वें नहीं माने।

विवाहिता के भाई अजय गुप्ता ने थाने में तहरीर देकर आरोप लगाया कि दहेज में बाइक के लिए बहन को ससुराल वाले हमेशा प्रताड़ित करते रहते हैं। मारपीट कर उसे घर से बाहर निकाल दिया है। विवाहिता ने चेतावनी दी हैकि यदि उसे न्याय नहीं मिला तो वह बच्चे के साथ जान दे देगी। उसने जेठ-जेठानी, चचिया ससुर व एक पड़ोसी पर दहेज के लिए प्रताड़ित करने व घर से बाहर निकालने का आरोप लगाया है। वहीं विवाहिता के साथ बदसलूकी को लेकर गांव में तरह-तरह की चर्चा बनी रही। इस संदर्भ में थाना प्रभारी प्रणय प्रसून श्रीवास्तव ने बताया कि पारिवारिक मामला है। तहरीर के आधार पड़ताल की जा रही है। जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।  


Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad