Featured

Type Here to Get Search Results !

उत्तर प्रदेश में 100 ग्राम पंचायतें बनाई जाएंगी मॉडल, जानें क्या आएगा बदलाव

0

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिले के 100 ग्राम पंचायतों को मॉडल ग्राम पंचायत बनाया जाए। ऐसा करने के लिए परफार्मेंस ग्रांट की धनराशि का इस्तेमाल करें। इसके अलावा कॉर्पोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी (सीएसआर) के फंड का इस्तेमाल भी किया जाए। इन ग्राम पंचायतों को ऐसा बनाया जाए दूसरों के लिए नजीर बने। कोशिश हो कि गांव के लोगों के जीवन स्तर में सुधार हो, ग्राम पंचायतें भी आत्मनिर्भरता की ओर बढ़े।

गोरखनाथ मंदिर के पीठाधीश्वर कक्ष में अधिकारियों से मुखातिब सीएम योगी ने कहा कि गांव के तालाब, जल निकासी, सड़कों के निर्माण के साथ ही ओपेन जिम, वाचनालय, खेल मैदान के निर्माण, जल सरक्षण के लिए वॉटर हार्वेस्टिंग, नालियों का निर्माण, आरओ वॉटर प्लांट का निर्माण, प्राथमिक विद्यालयों का कालाकल्प, स्मार्ट क्लास, आंगनबाड़ी केंद्रों, स्वास्थ्य केंद्रों, सामुदायिक भवन, बारात घर के जीर्णोद्धार एवं निर्माण के कार्य भी कराए जाए। इन कार्यो में परफार्मेंस ग्रांट से मिली धनराशि और जिन ग्राम पंचायतों को परफार्मेंस ग्रांट नहीं मिली, वहां सीएसआर के फंड से काम कराए जाएं। बैठक में जिलाधिकारी ने बताया कि पूर्व में परफार्मेंस ग्रांट पाने वाली ग्राम पंचायतों को आदर्श ग्राम पंचायत बनाने के लिए डीपीआर बनाई गई है। 

जिले में 37 ग्राम पंचायतों को परफार्मेंस ग्रांट मिली है जिनमें 30 ग्राम पंचायतों की डीपीआर को शासन स्तर पर मंजूरी मिल गई है। इन कुल 30.82 करोड़ रुपये के कार्यो की प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान कर ग्राम पंचायतों को काम करने के निर्देश दिए जा चुके हैं। ग्राम पंचायतों में आरओ प्लांट, स्ट्रीट लाईट, ओपेन जिम, खेल मैदान, स्मार्ट क्लास समेत तमाम ऐसे कार्य कराए जा रहे हैं ताकि ये ग्राम पंचायते आदर्श ग्राम पंचायतों की श्रेणी में आ जाए। बैठक में मण्डलायुक्त जयन्त नार्लिकर, जिलाधिकारी के विजयेन्द पाण्डियन, उपाध्यक्ष गोरखपुर विकास प्राधिकरण अनुज सिंह, नगर आयुक्त अंजनी कुमार सिंह, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जोगेन्द्र कुमार समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad