व्यापार बंद हुआ तो व्यवसाय बदले, हलवाइयों ने खोली सब्जी की दुकानें और पनेरी बेचने लगे फल - Dildarnagar News | Ghazipur News✔ ग़ाज़ीपुर न्यूज़ | लेटेस्ट न्यूज़ इन हिंदी ✔

Breaking News

Friday, 8 May 2020

व्यापार बंद हुआ तो व्यवसाय बदले, हलवाइयों ने खोली सब्जी की दुकानें और पनेरी बेचने लगे फल



लॉकडाउन से तमाम छोटे व्यापारों को बंद कर दिया। छोटे व्यापार जब बंद हुए तो लोगों को परिवार पालने के लिए अपने व्यापार को बदल लिया है। जिसमें सब्जी व फल बेचने का व्यापार अधिक लोगों ने किया है। शहर के मुख्य स्थान मौनिया चौक के अासपास हर सामान बेचने की दुकानें है। लेकिन कोरोना महामारी के दौरान लगे लाॅकडाउन में किराना,सब्जी और फल के दुकान खुले रहने के कारण थोक मंडी से सब्जी व फल खरीदे व ढील के दौरान दुकान में सब्जी लेकर बैठ गए। 4 घंटे में परिवार को पालन पोषण के लिए कमाई हो जाती है। यही कारण है कि बाजार में इन दिनों टेंट, सुनारी,पान दुकान आदि का व्यापार करने वाले लोग भी सब्जियां बेचते नजर आ रहे है।
आज से दुकानें खोलने की छूट, जानें समय
लॉकडाउन थ्री में छूट का दायरा बढ़ाते हुए कई प्रकार की गतिविधियों की डीएम अरशद अजीज ने इजाजत दी है। गुरूवार को डीएम ने लॉकडाउन में इलेक्ट्रानिक, ऑटोमोबाइल, हार्डवेयर, निर्माण सामग्री और प्रदूषण जांच केन्द्रों को खोलने का निर्देश दिया। डीएम ने कुछ दुकानें को एक सप्ताह में तीन दिन और कुछ दुकान को रविवार को छोड़कर खोलने का आदेश दिया है।इसके लिए रोटेशन तय किया गए है कि कौन दिन कौन दुकान कब और कितने बजे तक खुला रहेगा। पूर्व की भांति किराना दुकान,सब्जी दूकान दवा दूकानों उवं दुध की दुकानें खुली रहेगी।
पान की दुकान छोड़फल बेचने लगा अमित
मौनिया चौक के अमित पान स्टॉल। दुकान के नाम लिखा हुअ है। लेकिन अमित कुमार बताता है कि पान और गुटका बंद होने के कारण एक माह से दुकान बंद है। जो पैसा रखा था, वह लॉकडाउन के दौरान परिवार पालने में खत्म हो गया। इस लिए व्यापार बदलकर फल दुकान किया है। लॉकडाउन के कारण सुबह 10 बजे से 2 बजे तक ही दुकान खुल रहा है। इसी बीच परिवार के पालने के लिए कमाई हो जा रही है।


चूना गली में बेचता थासमोसा जिलेबी
राजू लॉक डाउन से पहले समोसा, कचौड़ी का काम करते थे। लॉक डाउन हुआ तो चाय नाश्ता की दुकानों पर भी ताले लग गए। राजू के सामने व्यापार का संकट खड़ा हो गया। एक दो दिन सोचने के बाद उन्होंने समोसा बनाने के सामान को एक तरफ रख दिया। राजू के अनुसार सब्जी बेच कर वह अपने परिवार को भरण पोषण आसानी से कर पा रहे है। राजू ही नहीं शहर के कई छोटे व्यापारी जो टेंट,पान की दुकान आदि का काम करते थे। वर्तमान में फुटकर सब्जी का व्यापार कर रहे है।


कम लागत के साथ तत्कालबिक जाती है सब्जी
अखिलेश और सोनू यादोपुर चौक पर पहले मुर्गा बेचते थे। लेकिन लॉकडाउन के बाद मुर्गा के दुकान बंद होने के बाद परिवार में खाने पीने की परेशानी को देख दोनों ने मिलकर हाथ ठेले पर सब्जी बेच कर परिवार चला रहे है। लॉक डाउन के दौरान सब्जियों की मांग बढ़ गई है। वर्तमान में सब्जियां सस्ती भी है। सीमित समय के लिए बाजार खुल रहे। ऐसे में ग्राहक जहां भी सब्जी नजर आती है, वहीं से खरीद लेते हैं। राजू के अनुसार कम लागत के साथ तत्काल बिक्री हो जाती है।


ये दुकानें रविवार को बंद रहेंगी
निर्माण सामग्री भंडारण और बिक्री से संबंधित प्रतिष्ठान जैसे सीमेंट, स्टील, बालू, स्टोन, सीमेंट ब्लॉक, ईंट, प्लास्टिक पाइप, हार्डवेयर, सैनिटरी फिटिंग, लोहा, पेंट व शटरिंग सामग्री की दुकानें सोमवार से शनिवार तक सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक खोलने के आदेश दिए गए हैं। रविवार को बंद रहेंगी।

No comments:

Post a comment