Type Here to Get Search Results !

Trending News

गाजीपुर में 176 शिकायती पत्रों में महज 12 शिकायत ही मौके पर निस्तारित

विधानसभा और एमएलसी चुनाव की आचार संहिता की वजह से तहसील और थानों में स्थगित संपूर्ण समाधान दिवस का शनिवार को आयोजन हुआ। पिछले साढ़े महीने से बाद आयोजित समाधान दिवस में फरियादियों की भीड़ भी कम रही। जिलाधिकारी की अध्यक्षता में 21 शिकायतें आई और आला अधिकारी मिलकर महज चार ही सुलझा सके शेष लंबित ही रह गईं। वहीं जिले भर में 176 प्रार्थना पत्रों में 12 आवेदकों को छोड़कर सभी जनसुनवाई से मायूस लौटे।

गाजीपुर में शनिवार को जनसमस्याओं के त्वरित निस्तारण के लिए सदर तहसील का सभागार में डीएम की अध्यक्षता में सम्पूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया। जिलाधिकारी एमपी सिंह और एसपी रामबदन सिंह ने 21 शिकायत/प्रार्थना पत्रों पर सुनवाई की लेकिन तमाम कवायद के बावजूद महज 4 का निस्तारण किया गया। ऐसा ही हाल जनपद की अन्य तहसीलों का रहा, जिसमें तहसील सैदपुर में उपजिलाधिकारी की अध्यक्षता में 26 शिकायत/प्रार्थना प्राप्त हुए, जिसमें 01 का मौके पर निस्तारण किया। तहसील सेवराई में उपजिलाधिकरी अध्यक्षता में 11 शिकायत/प्रार्थना प्राप्त हुए जिसमें से 1 का मौके पर निस्तारण किया गया। जखानियां तहसील में अपर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में 42 शिकायत पत्र प्राप्त हुए,जिसमें मौके 2 का निस्तारण किया गया। तहसील कासिमाबाद में उपजिलाधिकारी की अध्यक्षता में 35 शिकायत/प्रार्थना प्राप्त हुए जिसमें से 3 का मौके पर निस्तारण किया गया।

तहसील जमानियॉ में उपजिलाधिकारी की अध्यक्षता में 16 शिकायत/प्रार्थना प्राप्त हुए जिसमें से मौके पर 1 का निस्तारण किया गया । सबसे बुरा हालत तहसील मुहम्मदाबाद में रहा। जहां उपजिलाधिकारी समेत सभी विभाग मिलकर एक भी शिकायती पत्र का निस्तारण नहीं कर सके। इसमें 25 शिकायतें आईं लेकिन निस्तारण शून्य रहा। इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रकाश गुप्ता, उपजिलाधिकारी सदर, जिला विकास अधिकारी, समेत सभी क्षेत्राधिकारी और खंड विकास अधिकारी अपने क्षेत्रों में अधीनस्थों के साथ मौजूद रहे।

अनुपस्थित अधिकारियों का रोका वेतन

जिलाधिकारी एमपी सिंह ने शनिवार को आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस पर अनुपस्थित कर्मचारियों के प्रति नाराजगी जताई। डीएम ने सभी को नोटिस जारी करके समाधान दिवस में नहीं आने का कारण पूछा। इसके साथ ही लापरवाह अधिकारियों का एक दिन का वेतन भी रोकने का निर्देश दिया। समाधान दिवस में मुख्य चिकित्साधिकारी गाजीपुर, एई आरईडी, अधिशासी अभियन्ता जल निगम (शहरी/ग्रामीण), अधिशासी अभियन्ता नलकूल प्रथम, द्वितीय, अधिशासी अभियन्ता लोक निर्माण विभाग, सीओ चकबन्दी सदर, अधिशासी अभियन्ता लघु डाल अनुपस्थित रहे। डीएम ने बताया कि सभी का एक दिन का वेतन रोकने का निर्देश दिया गया है।

शिकायती पत्रों का जल्द होगा निस्तारण

जिलाधिकारी ने सम्पूर्ण समाधान दिवस में प्राप्त शिकायत/प्रार्थना पत्रों का निस्तारण करने के संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। डीएम ने कहा कि तत्काल मौके पर जाकर स्थलीय निरीक्षण करते हुए निस्तारण कराएं। उन्होंने आईजीआरएस पोर्टल पर प्राप्त शिकायतों को आगामी दो दिवस में शत-प्रतिशत निस्तारण का निर्देश दिया। कहा इसकी समीक्षा सीधे शासन स्तर से होती है, इसमें लापरवाही पर सम्बन्धित अधिकारी स्वयं जिम्मेदार होंगे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad