Type Here to Get Search Results !

Trending News

शुक्रवार को चरित्र मानव धर्म की सबसे बड़ी पूंजी - Ghazipur News

जयगुरुदेव आश्रम आंकुशपुर सहेड़ी में शुक्रवार को जयगुरुदेव सत्संग समारोह का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्य अतिथि धर्म प्रचारक संस्था के महामंत्री बाबूराम यादव ने कहा कि जयगुरुदेव नाम का जहाज परम संत बाबा जयगुरुदेव जी महाराज ने जगाया। मानवता के लिए समर्पित युग मसीहा ने आजीवन अथक परिश्रम करके करोड़ों लोगों को बदलकर भगवत भजन में लगाया। शाकाहार सदाचार और मद्य-निषेध के देशव्यापी और प्रबल प्रचार की जरूरत है। चरित्र मानव धर्म की सबसे बड़ी पूंजी है। चरित्र उत्थान तथा अच्छे समाज का निर्माण वक्त की मांग है।

एक-एक गांव गोद लेकर धर्म प्रचार करना और लोगों की भावनाएं मोड़ना बहुत बड़ा पुण्य कार्य है। भारतीय संस्कृति के उदात्त आदर्श ही इसे विश्व गुरु के रूप में सर्वमान्य करते हैं। जब अपनी संस्कृति, शिक्षा और आदर्श से दूर हो जाएंगे तो कौन उम्मीद की जाए कि समय अच्छा आएगा। समय तो अच्छा आने का संकेत बाबा जयगुरुदेव जी महाराज बहुत ही पहले कर गए हैं, लेकिन उससे पहले कर्मों के कारण जो बुरे दिन आएंगे उसे पार करना एक प्रकार की अग्निपरीक्षा होगी।

उन्होंने कहा की आसन्न कर्म जनित संकटों व महा मारियों से बचाव चाहते हैं तो महात्माओं की अपील पर अमल करें सभी लोग मांस मछली, अंडे शराब आदि का खाना-पीना त्याग कर शुद्ध शाकाहारी, सदाचारी और नशा मुक्त बन जाएं तो प्रकृति अपना विनाशकारी रूख बदल सकती है। कहा कि मांसाहार और नशाखोरी दोनों ऐसे दु‌र्व्यसन हैं, जो हिसा, अपराध और कदाचार की बढ़ती घटनाओं के मुख्य जिम्मेदार हैं।

समाज में जनचेतना जगाने के लिए आध्यात्मिक और वैचारिक जागरण की बहुत बड़ी आवश्यकता है। देश में बदलाव महापुरुषों के उपदेशों और शिक्षा से आएगा। इस दौरान हजारों की संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad