Type Here to Get Search Results !

Trending News

गाजीपुर: 65 केंद्रों पर गेहूं खरीद का आज से होगा आगाज, तैयारी पूरी

गाजीपुर में शासन के निर्देश पर शुक्रवार से गेहूं खरीद का आगाज होगा। शहरी इलाकों को छोड़कर सातों तहसील क्षेत्रों में बनाए गए गेहूं खरीद केंद्रों पर तैयारियां चलती रही। गेहूं खरीदने के लिए 65 केंद्र बने है, इन केंद्रों पर विपणन विभाग के नियमानुसार खरीदारी की जाएगी। केंद्रों पर ई-पॉस मशीन, कांटा, बोरा, नमी मापक यंत्र और पेयजल आदि की सुविधा उपलब्ध कराने का कार्य भी पूरा कर लिया गया है। जिलाधिकारी एमपी सिंह ने खरीद से जुड़े अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ बैठक कर समीक्षा की।

जिलाधिकारी एमपी सिंह ने जिला पंचायत सभागार में गेहूं की खरीद की तैयारियों को लेकर कर्मचारियों को निर्देश दिए। गेहूं क्रय केंद्रों पर मूलभूत सुविधाओं के दुरूस्त करने एवं अधिक संख्या में किसानों को पंजीकरण कराने के लिए प्रेरित करने की बात कही। कहा कि सभी क्रय केंद्र प्रभारी केन्द्रों पर आवश्यक मूलभूत सुविधाओं को दुरूस्त कर किसानों को पंजीकरण कराने के लिए प्रेरित करे। गेहूं खरीद केवल पंजीकृत किसानों से की जाएगी। किसान गेहूं बेचने के लिए स्मार्ट फोन सहित जनसेवा केंद्र से करा सकते है। केंद्र प्रभारी किसानों को बैनर पोस्टर सहित अन्य माध्यमों से जागरूक करें। 

क्रय केन्द्रों पर गेहूं क्रय के लिए सभी उपकरण मौजूद हो, जिसमें ई-पॉप मशीन, इलेक्ट्रॉनिक कांटे, नमी मापक यंन्त्र, छलना, विनोइंग फैन, पावर डस्टर के साथ-साथ क्रय केन्द्रों पर रखे जाने वाले अभिलेख-स्टॉक रजिस्टर, बोरा रजिस्टर, क्रय पंजिका, निरीक्षण पंजिका, रिजेक्शन पंजिका उपलब्ध होना चाहिए। क्रय केन्द्रों पर शासन द्वारा निर्धारित बैनर, समर्थन मूल्य व टोल फ्री नम्बर सहित प्रदर्शित रहेगा। इसके लिये सम्बन्धित सचिव, कृषि उत्पादन मण्डी समिति तथा क्रय एजेन्सी के जिला प्रभारियों को भी निर्देश दिया है। इस दौरान अपर जिलाधिकारी वित्त एंव राजस्व, जिला खाद्य विपरण अधिकारी, सभी उपजिलाधिकारी सहित तहसीलदार, नोडल व क्रय केंद्र प्रभारी मौजूद रहे।

जनपद में करीब पांच लाख 85 हजार किसान है। इन किसानों की ओर से एक लाख 84 हजार हेक्टेअर में गेहूं की खेती की गयी है। गेहूं खरीदने के लिए जिला खाद्य विपणन विभाग की ओर से भी तैयारी शुरू कर दी गई है। पिछले साल की अपेक्षा इस साल गेहूं का समर्थन मूल्य भी बढ़ा दी गयी है। पिछले साल जहां गेहूं का समर्थन मूल्य 1975 रुपये प्रति कुंतल है। वहीं इस साल भी गेहूं का समर्थन मूल्य 40 रुपये प्रति कुंतल बढ़ाकर 2015 रुपये कर दिया है।

पंजीकरण कराना अनिवार्य 

गेहूं बेचने के लिए किसानों को पंजीकरण कराना अनिवार्य कर दिया गया है। पंजीकृत किसानों से हीं गेहूं की खरीद की जाएगी। विभाग की ओर से पोर्टल खोल दिए गए है। गेहूं की खरीद पंजीकरण नंबर के अनुसार करायी जाएगी। विभाग की ओर से किसानों के लिए दिशा निर्देश भी जारी किया गया है। इसमें खाता नंबर अपलोड करने के दौरान किसानों को सर्तकता बरतने की आवश्यकता है। इसमें वहीं खाता नंबर दे, जिसमे तीन माह के भीतर लेन देन हुआ हो व खाता नंबर आधार कार्ड से लिंक होना भी अनिवार्य है।

कंट्रोल रूम में किसान कर सकते शिकायत

किसानों को परेशानी न हो, इसे लेकर शास्त्री नगर स्थित जिला विपणन विभाग में कंट्रोल रूम बनाया गया है। किसान कंट्रोल रूम में शिकायत दर्ज करा सकते है। जिसका निस्तारण विभाग की ओर तत्कार करायी जाएगी। किसान गेहूं विक्रय सम्बन्धी किसी भी समस्या पर जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी रतन कुमार शुक्ला के मो. न. 8004862429, तहसील स्तर पर क्षेत्रीय विपणन अधिकारी में तहसील सदर रोहित कुमार द्विवेदी 9793880962, मुहम्मदाबाद में चन्द्रभान पाण्डेय 9452232306, कासिमाबाद में संजय कुमार गौतम 9838887999, जखनियां में हेमन्त कुमार सिंह 9473957438, जमानियां में शैलेश कुमार यादव 9621830783, सेवराई में रितेश कुमार सिंह 9554181785 एवं सैदपुर में राजीव सिंह 8299710742 के मोबाइल पर संपर्क कर सकते है।

इनके बने है केंद्र

जनपद में खाद्य विभाग के 17, पीसीएफ के 15, पीसीयू 23, यूपीएसएस 9 एवं भारतीय खाद्य निगम के एक केंद्र नामित किए गए हैं। बीते वर्ष 2021-22 में संचालित वर्ष 2022- 23 में संस्थावार केंद्रों को अनुमोदित किया गया है।

गेहूं की खरीद को लेकर शासन की ओर से लक्ष्य नहीं आया है। केंद्रों पर गेहूं की खरीद की तैयारी पूरी कर ली गयी है। एक अप्रैल से गेहूं की खरीद शुरू होगी। गेहूं विक्रय करने के दौरानपरेशानी होने पर कंट्रोल रूम में तत्काल शिकायत दर्ज करा सकते है। जिसका तत्काल निवारण कराया जा सके।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad