Type Here to Get Search Results !

Trending News

दिसंबर से शुरू होगा विंध्य कारिडोर का निर्माण, 331 करोड़ रुपये की लागत से होगा काम

बहुप्रतीक्षित विंध्य कारिडोर के निर्माण की घड़ी अब नजदीक आ चुकी है। काशी विश्वनाथ की तर्ज पर 331 करोड़ रुपये की लागत से विंध्य कारिडोर का निर्माण होना है। नवंबर तक सारी प्रक्रिया पूर्ण हो जाएगी। दिसंबर के प्रथम सप्ताह से कारिडाेर का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा।

लंबे समय बाद एक अगस्त को गृह मंत्री अमित शाह ने बहुप्रतीक्षित विंध्य कारिडोर का शिलान्यास कर विंध्य क्षेत्र को सौगात दी तो लगा कि अब जल्द ही विंध्य कारिडोर का निर्माण कार्य शुरू होगा, लेकिन शारदीय नवरात्र की वजह से कारिडाेर निर्माण की प्रक्रिया ठप हो गई। हालांकि इस बीच निर्माण कार्य के लिए होने वाली टेंडर प्रक्रिया पूर्ण करने का मौका मिल गया। शिलान्यास के बाद कारिडोर निर्माण के लिए 128 करोड़ रुपये की मंजूरी भी मिल गई थी। कारिडोर निर्माण के लिए नामित राजकीय निर्माण निगम के प्रोजेक्ट मैनेजर राजीव सिंह ने बताया कि शासन से हरी झंडी मिलते ही टेंडर प्रक्रिया शुरू कराया गया।

दीपावली के एक दिन पहले 45 करोड़ का और फिर 40 करोड़ का जीओ हुआ। अब 41 करोड़ का एक और जीओ होना है, जो जल्द ही हो जाएगा। नवंबर तक सारी प्रक्रिया लगभग पूर्ण हो जाएगी। दिसंबर के प्रथम सप्ताह से विंध्य कारिडोर का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। निर्माण कार्य की तैयारियों को लेकर नगर मजिस्ट्रेट विनय कुमार सिंह के साथ बैठक की गई थी। परिक्रमा पथ निर्माण के लिए 19 नवंबर को लेजर तकनीक से नापी भी की गई थी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ड्रीम प्रोजेक्ट विंध्य कारिडोर निर्माण को लेकर प्रशासनिक तैयारियां भी तेज हो गई है। विंध्य कारिडोर का निर्माण होने से विंध्य क्षेत्र के विकास को पंख लगेंगे।

प्रथम चरण में परिक्रमा पथ व गलियों का होगा चौड़ीकरण

सारी प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद अगर विंध्य कारिडोर का निर्माण कार्य शुरू हुआ तो सबसे पहले विंध्यवासिनी मंदिर के चारों तरफ परिक्रमा पथ के साथ ही थाना कोतवाली गली, नई वीआइपी, पुरानी वीआइपी व पक्का घाट मार्ग का निर्माण कराया जाएगा।

शिलान्यास के बाद विंध्य कारिडोर निर्माण के लिए शासन से 128 करोड़ रुपये मंजूर हुआ था। नवंबर तक टेंडर प्रक्रिया पूर्ण कर ली जाएगी। दिसंबर के प्रथम सप्ताह से निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। - राजीव सिंह, प्रोजेक्ट मैनेजर, राजकीय निर्माण निगम।

विकास कार्य : लंबाई

  • परिक्रमा पथ : 50 फीट
  • न्यू वीआइपी गली : 35 फीट
  • पुरानी वीआइपी गली : 40 फीट
  • कोतवाली गली : 35 फीट
  • पक्का घाट मार्ग : 35 फीट

सफाई व्‍यवस्‍था : विंध्य कारिडाेर का निर्माण शुरू होने से पहले ही नगर पालिका की सफाई व्यवस्था ध्वस्त हो गई है। विंध्यवासिनी मंदिर जाने वाले मुख्य मार्ग थाना कोतवाली रोड पर गंदगी का अंबार लगा है। नालियां भी चोक हो गई हैं। सड़क पर नाली का गंदा पानी बहने से दर्शनार्थियों को काफी परेशानी हो रही है। मां विंध्यवासिनी का दर्शन करने आने वाले दर्शनार्थियों को गंदा पानी से होकर गुजरना पड़ रहा है। स्थानीय लोगों का कहना है कि कारिडोर निर्माण के लिए ध्वस्तीकरण के बाद वैसे ही हर तरफ उबड़-खाबड़ हो गया है। इससे दर्शनार्थियों के साथ ही स्थानीय लोगों को भी असुविधा हो रही है। वहीं सफाई व्यवस्था दुरूस्त न होने से गंदगी का सामना करना पड़ रहा है। वैसे तो साफ-सफाई के लिए नगर पालिका की ओर से सफाईकर्मी लगाए गए हैं, लेकिन सफाईकर्मी नजर नहीं आते। अगर प्रतिदिन साफ-सफाई की जाए तो ऐसी समस्या हो ही नहीं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad