Type Here to Get Search Results !

Trending News

गंगा एक्सप्रेसवे को मंत्रालय की हरी झंडी, मेरठ से प्रयागराज तक 594 क‍िलोमीटर होगा लंबा

अभी पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का लोकार्पण हुआ है और अब गंगा एक्सप्रेसवे के निर्माण का भी रास्ता साफ हो गया है। मेरठ से प्रयागराज तक इस एक्सप्रेसवे के निर्माण के लिए पर्यावरण मंत्रालय ने अनापत्ति प्रमाण-पत्र (एनओसी) जारी कर दिया है। उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीडा) निविदा की प्रक्रिया पहले ही शुरू कर चुका है। इसके पूरा होते ही एक्सप्रेसवे का निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा। इसका शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से कराने की तैयारी है।

योगी सरकार मेरठ से प्रयागराज तक 594 किलोमीटर लंबा गंगा एक्सप्रेसवे बनाने जा रही है। यूपीडा द्वारा तय किए गए अलाइनमेंट के आधार पर छह लेन चौड़े (आठ लेन विस्तारणीय) एक्सप्रेसवे के लिए भूमि अधिग्रहण का काम चल रहा है। दावा है कि अब तक लगभग 94 प्रतिशत भूमि क्रय-अधिग्रहीत की जा चुकी है। काफी समय से यूपीडा पर्यावरणीय मंजूरी के लिए प्रयासरत था। विभागीय अधिकारियों ने बताया कि शनिवार को राज्यस्तरीय पर्यावरण प्रभाव मूल्यांकन प्राधिकरण, उप्र के सदस्य सचिव की ओर से अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी कर दिया गया।

परियोजना की कुल अनुमानित लागत 36230 करोड़ रुपये है। निर्माण के लिए पीपीपी मोड पर डिजाइन, बिल्ड, फाइनेंस, आपरेट एवं ट्रांसफर पद्धति पर निविदाएं आमंत्रित की गई हैं। टेंडर की प्रक्रिया पूरी होते ही इसका निर्माण शुरू करा दिया जाएगा। शिलान्यास प्रधानमंत्री से कराने की तैयारी है। उल्लेखनीय है कि हाल ही में पीएम ने गाजीपुर से लखनऊ तक बनाए गए पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का लोकार्पण सुलतानपुर से किया। कुछ महीनों में बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का उद्घाटन भी संभावित है। 

गंगा एक्सप्रेस-वे : एक नजर

प्रारंभ स्थल- मेरठ-बुलंदशहर मार्ग (एनएच-334) पर मेरठ के बिजौली गांव के पास।

समापन स्थल- प्रयागराज बाइपास (एनएच-19) पर प्रयागराज के जुडापुर दांदू गांव के पास।

इन जिलों से गुजरेगा - मेरठ, हापुड़, बुलंदशहर, अमरोहा, संभल, बदायूं, शाहजहांपुर, हरदोई, उन्नाव, रायबरेली, प्रतापगढ और प्रयागराज।

रोजगार से अवसर होंगे तैयार : यूपीडा अधिकारियों का कहना है कि इस एक्सप्रेसवे परियोजना के निर्माण से रोजगार के अवसर भी तैयार होंगे। ऐसा अनुमान है कि निर्माण के दौरान लगभग 12000 व्यक्तियों को अस्थायी रूप से काम मिलेगा, जबकि टोल प्लाजा बनने पर लगभग 100 व्यक्तियों को स्थायी आधार पर रोजगार दिया जा सकेगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad