Type Here to Get Search Results !

Trending News

जंगीपुर हत्याकांड का पुलिस ने किया पर्दाफाश, साले ने ही कराई थी जीजा की हत्या

जंगीपुर थाना क्षेत्र के यादव मोड़ के पास से बीते 24 अक्टूबर को हुई युवक की हत्या का क्राइम ब्रांच टीम एवं जंगीपुर थाना पुलिस ने चार हत्यारोपियों को गिफ्तार कर रविवार को हत्याकांड का खुलासा कर दिया। पुलिस आफिस में आयोजित प्रेसवार्ता में पुलिस अधीक्षक रामबदन सिंह ने अभियुक्तों को मीडिया के समक्ष पेश करते हुए बताया कि बहन को छोड़ने पर साले ने ही जीजा की हत्या कराई थी।

एसपी ने बताया की बीचे 24 अक्तूबर की सुबह जंगीपुर थाना क्षेत्र के यादव मोड़ के पास गोली मारकर बाइक सवार जितेंद्र यादव की हत्या कर दी गई थी। इस संबंध में परिजनों द्वारा दी गई तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस हत्यारोपियों की तलाश में जुट गई थी। इसी क्रम में सोमवार की रात थानाध्यक्ष जंगीपुर हमराहियों के साथ क्षेत्र के यादव मोड़ पर मौजूद थे। 

इसी बीच स्वाट टीम प्रभारी मय हमराही वहां पहुंच गए। अपराध एवं अराधियों के संबंध में बातचीत होने लगी। इसी दौरान सूचना मिली की दिनांक बीते दिनों यादव मोड़ के पास हुई युवक की हत्या से संबंधित अभियुक्त फोर लेन हाईवे देवकठिया मोंड के पास एक छप्पर के मकान में बैठकर बातचीत कर रहे है। इस सूचना पर तत्काल पुलिस टीम हकरत में आते हुए मौके के लिए रवाना हो गई। मौके पर पहुंचने पर जैसे ही वहां मौजूद दो लोगो की नजर पुलिस पर पड़ी, वह भागने लगे। इस पर पुलिस टीम ने घेरेबंदी कर उन्हें दबोच लिया। गिरफ्तार अभियुक्तों के पास से 315 बोर का एक तमंचा, दो कारतूस तथा दूसरे के पास से एक मोबाइल फोन बरामद हुआ।  

गिरफ्तार अभियुक्तों की निशानदेही पर घटना मे शामिल अन्य दो अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया। एसपी ने बताया कि पूछताछ में अभियुक्त प्रिंस यादव ने बताया गया कि हमारे परिचित एवं रिश्तेदार अरविन्द यादव पुत्र संतु यादव निवासी सेमरा चक फैज थाना कोतवाली की बहन की शादी वर्ष 2018 में मृतक जितेंद्र यादव के साथ हुई थी। आपस में अनबन के चलते मृतक ने अपनी पत्नी को छोड़ दिया था। कई बार पंचायत होने के बावजूद मृतक अपनी पत्नी को साथ रखने के लिए तैयार नहीं हुआ। 

इस पर मृतक के साले द्वारा मृतक जितेन्द्र यादव को यह कहते हुए जान से मारने की धमकी दी गयी थी की तुमको दूसरी शादी करने से पहले मरवा दूंगा। मृतक के साले द्वारा उसी समय अभियुक्त प्रिंस यादव को यह कहकर पिस्टल-कारतूस दिया गया था कि जब मृतक दूसरी शादी करने लगे तो उसको जान से मार देना। मृतक के साले को जब पता चला कि मृतक दूसरी सादी कर रहा है तो उसने हम लोगों को फोन कर बताया और कहा कि जान से मार दो। 

24 अक्तूबर को मैं अभियुक्त प्रिंस यादव अपने तीन अन्य साथियों के साथ घटना को अंजाम देने के लिए निकल पड़े। मेरे दो साथियों द्वारा मृतक के घर के पास मोड़ पर खड़े होकर मृतक को घर से निकले पर सूचना देने के लिए बताया गया तथा मेरे व एक अन्य साथी द्वारा ओवरब्रिज के नीचे यादव मोंड से 500 मीटर पहले इंतजार किया जाने लगा। कुछ देर बाद मृतक जितेन्द्र यादव के अपने घर से निकल कर आने की सूचना देने पर हम लोग सतर्क हो गये तथा पीछा कर यादव मोड़ से 300 मीमर की दूरी पर हम लोगों ने उसे गोली मार दिया गया। एसपी ने बताया कि अभियुक्तों के पास से एक 9 एमएम पिस्टल, दो कारतूस तथा एक खोखा, एक 315 बोर का तमंचा, दो कारतूस, पांच मोबाइल और दो बाइक बरामद हुआ। गिरफ्तार लोगों में नंदगंज थाना क्षेत्र के मुड़वल निवासी प्रेम यादव उर्फ प्रिंस और बीकापुर निवासी राहुल यादव, सोनू यादव और संदीप यादव शामिल है।  

गिरफ्तार करने वाली टीम स्वाट टीम प्रभारी राकेश कुमार सिंह, उपनिरीक्षक सुनील कुमार तिवारी, हेड कांस्टेबल राम प्रताप सिंह, रामभवन यादव, विनय यादव, चन्द्रमणि त्रिपाठी, आशुतोष सिंह, प्रमोद कुमार सिंह, ओमप्रकाश सिंह, आरक्षी संजय प्रसाद सर्विलासं सेल, जंगीपुर थानाध्यक्ष जितेन्द्र बहादुर सिंह, उपनिरीक्षक विजयकांत द्विवेदी, उपनिरीत्रक सुनील कुमार शुक्ला, उपनिरीक्षक अनूप यादव आरक्षी महेश प्रताप सिंह, सुरेश यादव, हेड कांस्टेबल नंदलाल, चन्द्रशेखर, तनवीर अहमद, प्रशांत यादव, आकाश सिंह, विजय सिंह, भावना सिंह, छाया पांडेय शामिल थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad