Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

थाना क्षेत्र के महरूपुर गांव के एक युवक ने चाकू मारकर की वृद्ध काजी की हत्या

0

थाना क्षेत्र के महरूपुर गांव के काजी मुश्ताक खां (70) की सोमवार को गांव के ही एक युवक ने चाकू मारकर कर हत्या कर दी। इससे स्वजन में कोहराम मच गया। मृतक के पुत्र शमशाद खां की तहरीर पर पुलिस हमलावर अशरफ खां के खिलाफ नामजद मामला पंजीकृत कर चाकू बरामद करने के साथ कार्रवाई में जुट गई है। आरोपित फरार है। पुलिस अधीक्षक डा. ओमप्रकाश सिंह ने मौके पर पहुंचकर जायजा लेने के साथ लोगों से पूछताछ की।

परिवार के लोगों के मुताबिक काजी मुश्ताक खां गांव के पूर्व ग्राम प्रधान शकील रजा के दरवाजे के पास बैठकर समाचार पत्र पढ़ रहे थे। इसी दौरान हमलावर युवक उनके पास पहुंचा और चाकू निकालकर उनके सीने के पास बाएं तरफ व गर्दन सहित कई जगहों पर ताबड़तोड़ प्रहार कर वहां से भाग निकला। मुश्ताक की चीख-पुकार पर लोग दौड़कर मौके पर जब तक पहुंचते आरोपित साइकिल से ही भाग निकला। बुरी तरह से घायल मुश्ताक को लोग इलाज के लिए सीएचसी ले गए, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। मुश्ताक खां कीमौत की जानकारी होते ही कोतवाली परिसर में लोगों की भीड़ जमा हो गई। पति की मौत से पत्नी शाहजहां बेगम पूरी तरह से बेसुध हो गर्ईं। मृतक के चार पुत्र शमशाद, सलामु, शाकिब व नौशाद खां हैं। इसमें नौशाद खां खाड़ी देश में नौकरी करता है। वहीं तीनों पुत्र खेती आदि काम करते हैं। सीओ रविद्रनाथ वर्मा, कोतवाल अशोक कुमार मिश्र सहित बड़ी संख्या में फोर्स डंटी रही। हत्यारे की गिरफ्तारी को टीम गठित हुई है।

हत्या गांव से छाया रहा सियापा, लोग हतप्रभ

मुहम्मदाबाद : थाना क्षेत्र के महरूपुर गांव के मुअज्जिम काजी मुश्ताक खां की हत्या से पूरे गांव में सियापा छाया है। मुश्ताक खां गांव के छोटी मस्जिद की जिम्मेदारी संभाले हुए थे। हत्या की घटना को वारदात देने वाले युवक ने किस वजह से घटना को अंजाम दिया यह बात कोई नहीं बता पा रहा है। आरोपित अशरफ कुछ दिन से मस्जिद में नमाज पढ़ने जाता था। वह मछली बेचकर आजीविका चलाता था। माता-पिता के काफी पहले गुजर जाने के बाद से तीन भाइयों में सबसे बड़ा अविवाहित अशरफ अकेले रहता था। उसके पास एक मड़हा था उसी में वह रहता था।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad