Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

गाजीपुर में पति-पत्नी ने दूधमुंहे बच्चे संग गंगा में लगाई छलांग, 3 वर्ष पहले हुई थी शादी

0

गाजीपुर से चंदौली को जोड़ने के लिए गंगा नदी पर सैदपुर में बने पक्का पुल से सोमवार की दोपहर पति-पत्नी ने दूधमुंहे बच्चे के साथ गंगा नदी में छलांग लगा दी। मामला चंदौली जिले के बलुआ थाना क्षेत्र का होने के कारण कुछ देर तक सीमा को लेकर असमंजस की स्थिति दिखी। हालांकि कुछ देर बाद चंदौली जिले की पुलिस पहुंच गई। इसमें सैदपुर पुलिस भी पूरा सहयोग कर रही है। दोनों थाने की पुलिस गोखाखोर व नाव के सहारे इनकी तलाश में जुटी हुई है, लेकिन देर शाम तक तीनों का कोई पता नहीं चला।

सैदपुर कोतवाली के भद्रसेन (डहराकलां) गांव निवासी अजीत कन्नौजिया (22) अपनी पत्नी सोनम (20) व एक साल के बेटे झिन्नी के साथ सैदपुर अस्पताल में कोरोना टीकाकरण कराने की बात कहकर घर से निकले, लेकिन अस्पताल नहीं गए। वह टैम्पो से नदी के उस पार चंदौली की तरफ चले गए। फिर पैदल ही उधर से वापस आ रहे थे। 

मध्य में पहुंचने के बाद सोनम ने अपना पर्स जमीन पर रखा और पति-पत्नी ने बच्चे के साथ नदी में छलांग लगा दी। इस बीच एक राहगीर ने इन्हें गंगा नदी में कूदते देखा ताे सैदपुर की तरफ आकर एक गुमटी वाले को इसकी सूचना दी। गुमटी वाले की सूचना पर पुलिस पहुंची तो सोनम का पर्स मिला। क्षेत्राधिकारी बलिराम व कोतवाल राजीव सिंह पहुंचे। इस बीच बलुआ थाना की भी पुलिस आ गई। घटनास्थल चंदौली क्षेत्र का होने पर चंदौली पुलिस ने भी डिटेल लिया और खोजबीन में जुट गई। कोतवाल राजीव सिंह ने कहा कि सैदपुर पुलिस पूरा सहयेाग करेगी। बताया कि महिला के पर्स में आधार कार्ड, तीन फोटो, 200 रुपये आदि मिले हैं।

सबके मुंह पर एक सवाल, आखिर क्यों उठाया इतना बड़ा कदम

अजीत कन्नौजिया व सोनम की शादी करीब तीन वर्ष पहले हुई थी। चार भाईयों में तीसरे नंबर का अजीत घर पर रहकर मजूदरी वगैर कर परिवार का जीविकोपार्जन करता था। एक साल का बेटा झिन्नी भी था। परिवार हंसी खुशी जीवन बसर चल रहा था। अचानक ऐसा क्या हुआ कि अजीत व उसकी पत्नी ने इतना बड़ा कदम उठा लिया। दूधमुंहे बच्चे का भी उन्हें मोह नहीं लगा। इसको लेकर तरह-तरह की चर्चा चल रही है।

घरवाले भी हैरान

मृतक अजीत के पिता श्यामलाल कन्नौजिया भी घर रहते हैं और मजदूरी करते हैं। सबसे बड़ा भाई संदीप बाहर रहता है। दूसरे नंबर के भाई प्रदीप व मनीष घर पर रहते हैं। मां ऊषा देवी समेत परिवार के लोगों का रो-रोकर बुरा हाल है।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad