Type Here to Get Search Results !

Trending News

गाजीपुर जिले में बिगड़ैल भैंसे के आतंक से दहशत में परिवार, 18 घण्टे घर में रहे कैद

गाजीपुर जिले के मरदह थाना के नोनरा गांव में भैसे के आतंक से रामधनी गोड़ का परिवार सोमवार की दोपहर से मंगलवार की सुबह तक घर मे कैद है । दोपहर से सुबह तक बिगड़ैल भैसा रामधनी के घर के आगे से लेकर पिछवाड़े तक मंडराता रहा। नोनहरा गांव निवासी रामधनी गोड़ गांव के सिवान में खेत में मकान बनवाकर परिवार साहित रहते हैं।

मंगलवार की सुबह उनके घर के पास धान की फसल बिगड़ैल भैसा खा रहा था। रामधनी ने उसे लाठी से पीट दिया। इस पर भैंसा धान खाना छोड़कर रामधनी को दौड़ा लिया। वह भागकर घर में घुसे तो दरवाजे तक पहुंच गया। दोपहर से लेकर पूरी रात वह उसके अगवाड़े से पिछवाड़े तक मंडराता रहा, रामधनी के परिवार सहित लोग भय वश घर मे दुबके रहे। घर के बाहर लगे हैण्डपम्प एवं शौचालय तक भी दहशत के कारण परिवार का कोई सदस्य नही जा पा रहा था।

दहशत में रामधनी गोड़ द्वारा भोर में पूर्व ग्राम प्रधान बेचन सिंह एवं 112 नम्बर पुलिस को फोन करके गुहार लगायी। सुबह पहुंची पुलिस भैसे का उग्र तेवर देख कर कुछ भी करने में असमर्थता जताते हुए लौट आयी। पूर्व प्रधान बेचन सिह की पहल पर सैकड़ों की संख्या में ग्रामीणों द्वारा लाठी -डंडे लेकर और डंडे में आग जलाकर मौके पर पहुंचकर काफी मशक्कत के बाद भैसे को घर से थोड़ी दूर तक खदेड़ने में सफल रहे लेकिन कुछ देर बाद भैंसा पुनः लौट आया। भैंसे को ग्रामीणों के साथ भगाने आए नोनरा गांव निवासी कमलेश विश्वकर्मा (40) को भैंसे ने मारकर घायल कर दिया।

घण्टों प्रयास के बाद थक हार कर ग्रामीण मौके से वापस घर लौट आए। भैसे के आतंक से भयभीत रामधनी गोड़ द्वारा सीएम हेल्प लाइन सहित अन्य अधिकारियों को फोन कर गुहार लगायी गयी लेकिन इस विचित्र समस्या से समाचार लिखे जाने तक कोई राहत नही मिल सकी थी। भैसा रामधनी के घर से थोड़ी दूरी पर जमा हुआ था । एसडीएम कासिमाबाद भारत भार्गव से इस बाबत बताने पर बोले कि अपने स्तर से समस्या समाधान का प्रयास कर रहे हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad