Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

आर्थिक तंगी से छुटकारा पाने के लिए अपनायें ये वास्तु टिप्स

0

आज के समय में हर कोई सुख-सुविधाओं से भरा जीवन बिताना चाहता है। अपने सपनों को पूरा करने के लिए हर कोई दिन-रात कड़ी मेहनत करके पैसा कमाता है। लेकिन कई बार मेहनत के बाबजूद भी हमें अपनी मेहनत के अनुरुप फल नहीं मिलता है। इसके अलावा कई बार बेवजह धन भी खर्च हो जाता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में वास्तु दोष होने पर तरक्की में बाधाएं आती हैं और धन भी नहीं टिकता है। 

अगर आप भी जीवन में सौभाग्य और समृद्धि चाहते हैं तो वास्तु से जुड़ी इन छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखना बहुत जरुरी है। अगर आप भी इस तरह की परेशानी का सामना कर रहे हैं तो अपनी समस्या को हल करने के लिए वास्तु शास्त्र का सहारा ले सकते हैं। वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में वास्तु दोष होने के कारण कई बार बेवजह धन खर्च या आर्थिक समस्याएं आती हैं।

आधुनिक युग में धन सबसे बडी जरूरत है। धन के बिना कुछ होना संभव नहीं है। धन से ही जीवन आगे तरक्की की ओर बढता है। घर या कार्यालय में वास्तुदोष बनने से धन की अडचनें आती हैं। वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि घर में क्या-क्या और कौन-कौन से बदलाव कर खुशहाली और सुख-समृद्धि को पा सकते हैं। इसलिए धन के निरंतर आगमन के लिए वास्तु उपाय किए जाना आवश्यक है। पैसों की बचत और आर्थिक समस्याओं के लिए अजमाएं ये वास्तु टिप्स-

जीवन की सभी समस्याओं से मुक्ति प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें !

धन संबंधित परेशानियों से बचने के उपाय-

  1. घर में साफ-सफाई पर ध्यान नहीं देने से गंदगी बनी रहती है। जिससे नकारात्मक ऊर्जा प्रवाहित होने से सकारात्मक ऊर्जा का स्तर कम हो जाता है और आर्थिक प्रगति रूक जाती है, इसलिए घर में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें। 
  2. कई लोग शाम के वक्त लाइटें बंद कर देते हैं। वास्तु शास्त्र के अनुसार, शाम के समय यानी गोधूलि बेला में घर के कोने-कोने में प्रकाश होना चाहिए। पौराणिक कथाओं के अनुसार, शाम के वक्त देवी-देवता पृथ्वी लोक का विचरण करते हैं। ऐसे में शाम के वक्त लाइट बंद रखने से मां लक्ष्मी का आशीर्वाद नहीं प्राप्त होता है।
  3. घर में कचरा पात्र रखने की जगह भी वास्तु अनुसार निर्धारित होनी चाहिए अगर गलत दिशा में इसे रखा जाता है तो वास्तुदोष बनने से घर की आर्थिक स्थिति पर बुरा असर पड सकता है।
  4. रसोई को घर का महत्वपूर्ण हिस्सा माना गया है। ऐसे में इस स्थान का ज्यादा ध्यान रखना चाहिए। कहते हैं कि रसोईघर की दीवारें लाल, पीले या फिर नारंगी रंग की होनी चाहिए। इसके साथ ही रसोई हमेशा साफ और स्वच्छ रहनी चाहिए। साफ-सफाई करने से मां लक्ष्मी का साथ सदैव बना रहता है।
  5. घर की रसोई में भी ज्यादा लंबे समय तक झूठे बर्तन नहीं रखने चाहिए अन्यथा इससे वास्तुदोष बनता है।
  6. घर में रखे हुए कूडादान की भी नियमित सफाई होना बेहद आवश्यक है अन्यथा कचरे का ढेर लगा रहने से वास्तुदोष बनने की पूरी संभावनाएं बनी रहेंगी।
  7. कहते हैं कि पानी की टंकी में शंख, चांदी का सिक्का या चांदी का कछुआ डालना शुभ होता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार, ऐसा करने से सभी तरह के दोषों से मुक्ति मिलती है और घर में सुख-शांति के अलावा समृद्धि भी आती है।
  8. मुख्य दरवाजे के आस-पास कभी कूडादान नहीं रखना चाहिए।
  9. घर में लंबे समय से रखा हुआ पुराना कबाड,अनुपयोगी वस्तुएं, खराब उपकरण नकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह करते हैं जिससे परिवार के सदस्यों की मानसिक स्थिति पर भी नकारात्मक असर पडता है और धन के स्त्रोत भी प्रभावित होते है।
  10. माना जाता है कि उत्तर-पूर्व दिशा में किचन बनवाना अशुभ होता है। कहते हैं कि इस दिशा में किचन होने से आर्थिक परेशानियां आती हैं।

वास्तु उपाय अपनाने से होगा धन लाभ -

  1. घर की उत्तर दिशा को समृद्धि का कारक माना जाता है। कहते हैं कि इस दिशा में नीले रंग का पिरामिड लगाने से तरक्की के साथ-साथ मां लक्ष्मी का आशीर्वाद भी प्राप्त होता है।
  2. घर में अलमारी का सीधा संबंध धन से ही होता है। अलमारी में वास्तुनियमों का ध्यान नहीं रखा जाता है तो वास्तुदोष बनते हैं और इसका बुरा असर आर्थिक स्थिति पर पडता है इसलिए अलमारी वास्तु अनुसार रखी जानी चाहिए।
  3. पूर्व या उत्तर दिशा में गहने पहनना शुभ माना जाता है। कहते हैं कि इससे मान-प्रतिष्ठा में वृद्धि होती है।
  4. अलमारी को इस तरह रखना चाहिए कि उसका मुख उत्तर या पूर्व दिशा की ओर खुले। दरअसल पूर्व दिशा के स्वामी सूर्य होते हैं व उत्तर दिशा के स्वामी धन के देवता कुबेर होते हैं।
  5. अलमारी के अंदर जिस जगह पर पैसे रखे जाते हैं उस जगह पर लक्ष्मी यंत्र अथवा लक्ष्मी जी,कुबेर भगवान की तस्वीरें या मूर्ति रखी जा सकती है। इन्हें रखने से अलमारी के अंदर व आसपास सकारात्मकता का प्रभाव बना रहता है।
  6. घर में भूलकर भी शीशा पश्चिम या दक्षिण दिशा में न लगाएं। माना जाता है कि ऐसा करने से प्रगति में बाधा आती है।
  7. वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर की पूर्व या उत्तर दिशा में तुलसी का पौधा अवश्य लगाना चाहिए। ऐसा करने से मानसिक, शारीरिक और आर्थिक लाभ होता है।
  8. ज्योतिष में कछुएं को धन की देवी लक्ष्मी जी से संबंधित किया जाता है। वास्तु में कछुए को सौभाग्य का प्रतीक माना है इसलिए घर में धातु का कछुए रखना चाहिए जिससे आर्थिक परेशानियों से छुटकारा मिलता है।
  9. वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर के चारों ओर खुला स्थान होना चाहिए। इससे धन-वैभव में बरकत होती है।
  10. वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि घर की ऊंचाई दक्षिण और पश्चिम भाग में ज्यादा और उत्तर और पूर्व भाग में कम होनी चाहिए। इससे कार्यों में जल्दी सफलता हासिल होती है।
  11. वास्तुशास्त्र नियम अनुसार घर या कार्यालय में मछलीपात्र रखना भी एक बेहद अच्छा उपाय है। इसे वास्तु अनुसार दिशा में रखे जाने पर वातावरण में सकारात्मकता का संचार होता है और इसमें मछलियों को देखते रहने पर मन व मस्तिष्क को सुकून,शांति का अनुभव होता है। मछलीपात्र में सुनहरे रंग की मछली जरूर रखी जानी चाहिए।
  12. वास्तु शास्त्र के अनुसार, खराब दवाओं को रात के समय ही फेंकना चाहिए। जिससे शारीरिक कष्टों से मुक्ति मिलती है।  

फेसबुक पेज लाइक करने के लिए क्लिक करें

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad