Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

चंदौली: पति की सलामती के लिए पत्नी भगवान से कर रही दुआ, काबुल में फंसे सूरज चौहान को लेकर चिंता

0

काबुल में फंसे सूरज चौहान की चिंता घरवालों को सता रही है। पत्नी रेखा चौहान उनकी सलामती और सकुशल घर वापसी के लिए ईश्वर से प्रार्थना कर रही हैं। वहीं प्रदेश सरकार से भी गुहार लगाई है कि इसके लिए पहल करे। ताकि सूरज ही नहीं बल्कि, अफगानिस्तान में फंसे सभी प्रदेशवासी सकुशल वापस घर लौट सकें।

सूरज के पिता बुधिराम चौहान व बड़े भाई ओमकार से उनकी फोन पर बात हो रही है। स्वजनों के अनुसार सूरज ने बताया कि अफगानिस्तान की सत्ता कट्टपंथी तालिबानियों के हाथों में जाने के बाद हालात पूरी तरह से बेकाबू हो गए हैं। पूरे देश में भगदड़ मची है। लोग अपना शहर, घर छोड़कर गैर मुल्कों में शरण लेने के लिए भाग रहे हैं। ऐसे में यहां रहना खतरे से खाली नहीं। जी बहुत घबराता है। स्वजनों को उनकी चिंता सता रही है। 

मां व पत्नी ईश्वर से उनकी सलामती के लिए प्रार्थना कर रही हैं। वहीं पिता व भाई ने सरकार से गुहार लगाई है। पिता बोले, अफगानिस्तान में हालात बेकाबू हैं। ऐसे में वहां फसे लोगों को सुरक्षित निकालना सरकार की जिम्मेदारी है। प्रदेश सरकार इसके लिए पहल करे। वहीं सूरज व उनके साथियों की घर वापसी सुनिश्चित की जाए। सूरज के काबुल में फंसे होने की जानकारी के बाद उनके घर पर हाल जानने वालों का तांता लगा रहा। ग्रामीणों के साथ ही नात-रिश्तेदार कुशल क्षेम जानने के लिए पहुंचे।

दर्जनों लोग विदेश में, प्रशासन अनभिज्ञ

जिले के दर्जनों लोग विदेश में रहते हैं। कोई अफगानिस्तान तो कोई रोजी-रोटी की तलाश में खाड़ी देशों में रहता है। हालांकि जिला प्रशासन के पास इसका कोई आंकड़ा नहीं है। ऐसे हालात पैदा होते हैं तभी विदेशी प्रवासियों के बारे में लोगों को जानकारी होती है। वहीं प्रशासन भी हरकत में आता है। स्थानीय लोगों का कहना है कि ऐसे लोगों का डाटा जिला प्रशासन या सरकार के पास होना चाहिए। ताकि विपरीत परिस्थिति आने पर उन्हें सुरक्षित लाया जा सके। 

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad