Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

काबुल में फंसे गाजीपुर के कन्हैया, DM के निर्देश पर घर पहुंचे उपजिलाधिकारी ने हर संभव मदद का दिया आश्वासन

0

गाजीपुर जिले के कासिमाबाद कोतवाली क्षेत्र के ग्राम पंचायत जयरामपुर भगवल के मौजा मुबारकपुर सागापाली के कन्हैया शर्मा भी काबुल में फंसे हुए हैं। डीएम एमपी सिंह के निर्देश पर उपजिलाधिकारी भारत भार्गव व नायब तहसीलदार राकेश कनौजिया घर पहुंच कर परिजनों सांत्वना देने के साथ हर संभव मदद का आश्वासन दिया। उपजिलाधिकारी ने कन्हैया शर्मा से वीडियो काल के माध्यम से बात की व हाल जाना। कन्हैया वहां सुरक्षित है।

पांच भाइयों में तीसरे नंबर पर कन्हैयालाल शर्मा फीटर की नौकरी के लिए जुलाई में पिछले महीने 16 जुलाई को काबुल गए। वहां की एक रोलिंग मिल में फीटर की नौकरी कर रहे थे। एक माह भी नहीं हुआ कि अफगानिस्तान में इस तरह के हालात हो गए। ऐसे में घर के लोगों की चिंता बढ़ गई। हालांकि कन्हैया ने मोबाइल से खुद को सुरक्षित होने की बात कहकर स्वजनों को ढांढस बंधाया। बताया कि काबुल में उसके साथ कई भारतीय फंसे हुए हैं। सभी जल्द से जल्द भारत आना चाहते हैं। 

इधर, कन्हैया की विधवा मां उषा देवी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बेटे को सकुशल वापसी की गुहार की है। मायके गई कन्हैया की पत्नी रीना व उसके तीनों बच्चे भी परेशान हैं। उपजिलाधिकारी ने बताया कि कन्हैया शर्मा ने बताया है कि 25 अगस्त को भारत से हवाई जहाज उन्हें लेने जाएगी। भारत जाने के लिए उन्होंने रजिस्ट्रेशन करा दिया है।

हालात बेकाबू है, हम घर में बंद हैं

यहां हालात बेकाबू है। हमेशा फायरिंग हो रही है। हम कंपनी द्वारा दिए गए घर में बंद हैं। बस किसी तरह घर आ जाएं। काबुल में फंसे कन्हैया की यह पुकार स्वजनों का कलेजा निकाल ले रही है। कन्हैया शर्मा अपना कर्ज भरने व बेटियों की भविष्य को सुधारने के सपने के साथ अफगानिस्तान के काबुल शहर गए। 

एक जानने वाले फोरमैन विजय भट्ट ने वीजा भेजा था। काबुल पहुंचने के कुछ दिन बाद ही तालिबानी सक्रिय हो गए और उन्होंने पूरे अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया। ऐसे में

अब कन्हैया के घर परिवार के लोग सहमे हुए हैं। कन्हैया शर्मा से फोन पर तो नहीं, लेकिन वीडियो काल के माध्यम से परिजनों से बात हो रही है। मां उषा देवी भगवान से अपने बेटे को कुशल घर वापसी की गुहार लगा रही है। वहीं पत्नी रीना शर्मा व बच्चे भी पिता को देखने के लिए परेशान हैं। 

सब लोग भारत सरकार द्वारा चलाए जा रहे अभियान की ओर टकटकी लगाए हुए हैं किसी तरह कन्हैया शर्मा सुरक्षित घर वापस आ जाए। कन्हैया के भाई अंगद शर्मा ने बताया कि भाई से बातचीत हो रही है। वह बता रहे हैं कि वहां हालात बेकाबू है। हमेशा फायरिंग हो रही है। वह अपने कंपनी द्वारा दिए गए घर में बंद है। ग्रामीण व आसपास की महिलाएं भी घर पहुंचकर परिजनों को सांत्वना दे रही हैं।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad