Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

चंदौली में मुठभेड़ में 3 शातिर लुटेरे गिरफ्तार, ग्राहक सेवा केंद्रों से की थी लूट

0

पुलिस व स्वाट टीम ने सकलडीहा के शिवगढ़ मोड़ के पास शनिवार की रात हल्की मुठभेड़ में तीन शातिर लुटेरों को गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से एक तमंचा, जिंदा कारतूस और ग्राहक सेवा केंद्रों से लूटे गए 25 हजार रुपये बरामद किए गए। आठ से 10 लुटेरों का गिरोह पुलिस के सिरदर्द बन गया था। आए दिन जिले में लूट की घटनाएं हो रही थीं। एएसपी दयाराम व सीओ रामवीर सिंह ने गिरफ्तारी व बरामदगी के बारे में रविवार को पुलिस लाइन सभागार में जानकारी दी।

एएसपी ने बताया कि ग्राहक सेवा केंद्रों पर लूट की घटनाओं के बाद पुलिस महकमा अलर्ट हो गया था। शनिवार को सदर, सकलडीहा कोतवाली पुलिस व स्वाट टीम भोजापुर रेलवे क्रासिंग के पास संदिग्ध व्यक्तियों व वस्तुओं की चेकिंग कर रही थी। इसी बीच सूचना मिली कि जिले में ग्राहक सेवा केंद्र से लूट करने वाले आरोपित शिवगढ़ मोड़ से होकर कहीं भागने की फिराक में हैं। इस पर पुलिस व स्वाट टीम मौके पर पहुंची। थोड़ी देर बाद एक बाइक पर सवार होकर तीन लोग आते दिखे। पुलिस ने रुकने का इशारा किया तो शातिर लुटेरों ने तमंचा से फायर झोंक दिया और भागने लगे। पुलिसकर्मियों ने साहस का परिचय देते हुए उनका पीछा किया। थोड़ी दूर आगे जाने पर उनकी बाइक फिसल गई। इससे तीनों गिर पड़े। पुलिसकर्मियों ने उन्हें धर-दबोचा।

आरोपित धीरज राय धानापुर थाना क्षेत्र के गुरेहूं गांव का निवासी है। वहीं हिमांशु सिंह बिहार प्रांत के कैमूर जिले के रामगढ़ थाना के डरबन गांव व आशीष रंजन तिवारी रोहतास जिले के नेटवार थाना क्षेत्र के महडौर गांव का निवासी है। आरोपितों की तलाशी ली गई तो एक .315 बोर का तमंचा और जिंदा कारतूस बरामद किया गया। उनके पास से लूट के 25 हजार रुपये भी बरामद किए गए। आरोपितों ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि आठ से 10 लोगों का गिरोह जनपद समेत आसपास के जिलों में सक्रिय है। धानापुर में सहज जनसेवा केंद्र से 28 हजार रुपये की लूट की। वहीं फगुइयां गांव स्थित सजह जन सेवा केंद्र पर लूट के इरादे से पहुंते थे, लेकिन कर्मी ने साथी अरुण सिंह का हाथ पकड़ लिया। इस पर गोली मारनी पड़ी। बताया गाजीपुर, मीरजापुर के अहरौरा और सोनभद्र जिले में भी कई ग्राहक सेवा केंद्रों पर लूट की घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं। एएसपी ने बताया कि धीरज राय पहले से ही अपराध जगत में सक्रिय रहा है। उसके खिलाफ धानापुर थाना, सकलडीहा व सदर कोतवाली में आधा दर्जन मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस टीम में कोतवाल अशोक मिश्रा, तेज बहादुर सिंह, अवनीश राय, राजीव सिंह, सत्येंद्र यादव, अजीत कुमार व अतुल नारायण सिंह शामिल रहे।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad