Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

जौनपुर जिले में हिरासत में लिए गये वांछित ओमप्रकाश पांडेय को मुठभेड़ दिखाकर पुलिस ने पैर में मार दी गोली

0

जौनपुर जिले के खुटहन के तिलवारी गांव में गोमती नदी पुल के पास रविवार की भोर में थाना पुलिस ने एक वांछित को मुठभेड़ में गिरफ्तार करने का दावा किया है। वांछित के पैर में गोली भी लगी है। वांछित को शनिवार की दोपहर पिलकिछा तिराहे से दर्जनों की भीड़ के बीच दुकानदार से रंगदारी मांगने के आरोप में पुलिस ने हिरासत में लिया था, जिसका वीडियो इंटरनेट मीडिया पर भी वायरल हुआ मामले में पुलिस की मुठभेड़ की फर्जी कहानी लोगों के गले नहीं उतर रही है।

बदलापुर थाना क्षेत्र के भटेहरा गांव निवासी ओम प्रकाश पांडेय विभिन्न अपराधिक गतिविधियों में वांछित चल रहा था। शनिवार की दोपहर वह पिलकिछा स्थित एक किराने की दुकान पर गया था। जहां दुकानदार से किसी बात को लेकर विवाद हो गया। मौके पर तमाम लोग जुट गये। ओम प्रकाश को ग्रामीणो ने घेर लिया। मौके पर पहुंची पुलिस उसे हिरासत में ले लिया। दुकानदार के द्वारा रंगदारी मांगे जाने के आरोप की तहरीर थाने में दी गई। जिसकी खबरें और वीडीओ इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित किया गया।

मामले में नया मोड़ रविवार की भोर में तब आगया जब हिरासत में लिए गये वांछित को पुलिस ने तिलवारी गांव में गोमती नदी पुल के पास मुठभेड़ में गोली मार गिरफ्तार करने का दावा किया। जो एक दिन पूर्व ही पुलिस हिरासत में था, वह मुठभेड़ में कैसे आगया। यदि पुलिस ने उसे थाने से छोड़ा हो तो गिरफ्तार करने क्यो गयी। 

पुलिस का आरोप है कि वह बाइक से भागते समय पुलिस पर फायर कर दिया। जब वांछित हिरासत में था तो उसके पास तमंचा और गोली कहां से आगयी। फिलहाल मुठभेड़ में गिरफ्तारी दिखाकर फीलगुड करने वाले प्रभारी निरीक्षक इंस्पेक्टर बिजेंद्र सिंह मामले के स्पष्टीकरण को लेकर पत्रकारो से पूरी दूरी बनाए हुए है। उनका सुबह से फोन भी नहीं उठ रहा है।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad