Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

आठ माह बाद खुले माध्यमिक स्कूल, छात्रों में दिखा उत्साह

0

कोरोना की दूसरी लहर के बाद बंद हुए माध्यमिक स्कूल सोमवार से फिर से खुल गए। इससे काफी दिन बाद फिर से स्कूलों में रौनक लौट आई। आठ माह बाद स्कूल खुलने पर बच्चों में भी उत्साह देखने को मिला। अब कोरोना काल में आफलाइन पढ़ाई की भी शुरुआत हो गई। अधिकतर स्कूल सुबह आठ बजे ही खुल गए। कक्षा छह से आठ तक के स्कूल 23 अगस्त से और एक से पांच तक के स्कूल एक सितंबर से खुलेंगे। इस दौरान कोरोना प्रोटोकाल का पालन किया गया।

सभी बच्चों को अनिवार्य रूप से मास्क व सैनिटाइजर के साथ आना था। पहले दिन औपचारिक परिचय व जानकारी के बाद सभी छात्रों को कोविड प्रोटोकाल का कड़ाई से पालन करने का निर्देश देते हुए छोड़ दिया गया। सैदपुर के इंटर कालेजों में विद्यालय प्रबंधन की तरफ से सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने के साथ ही विद्यालय को सैनिटाइज कराया गया था। हालांकि विद्यालयों में बहुत भीड़ नहीं थी। गिनती मात्र के बच्चे ही आए। 

स्कूल की चौखट को किया प्रणाम

खानपुर क्षेत्र के इंटर कालेजों के खुलते ही विद्यार्थियों का समूह शिक्षकों से मिलने पहुंचा। सोमवार को बड़ी संख्या में छात्र और छात्राओं ने कालेज के गेट के चौखट को झुक कर प्रणाम किया। कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए विद्यालय कर्मचारी उन्हें बारी-बारी से परिसर में थर्मल स्कैनिग के बाद प्रवेश करा रहे थे। लंबे समय के बाद अपने विद्यालय पहुंचे विद्यार्थियों ने अपने गुरुजनों का चरण स्पर्श कर उनका आशीर्वाद ग्रहण किया। विद्यालय प्रबंधन द्वारा सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों को दो पालियों में आधे-आधे संख्या में पठन-पाठन कार्य कराने के लिए विद्यार्थियों को सूचीबद्ध कर रहे थे। कक्षा में पदोन्नति के बाद विद्यार्थी अपने नए सत्र की जानकारी लेते रहे।

दुल्लहपुर में पहले दिन विद्यालयों में बच्चों की उपस्थिति करीब 30 फीसद रही। सभी सामाजिक दूरी का पालन करते हुए मास्क लगाए हुए थे। संक्रमण के किसी भी लक्ष्मण की दशा में विद्यार्थियों अथवा अध्यापकों को विद्यालय में प्रवेश वर्जित था। बाढ़ से क्षतिग्रस्त रास्ते छात्रों की राह बने रोड़ा

भांवरकोल में शासन के आदेश पर अध्ययन-अध्यापन के लिए सोमवार को क्षेत्र के माध्यमिक विद्यालय खुले, लेकिन बाढ़ से क्षतिग्रस्त सड़कों व खराब रास्तों की वजह से विद्यालयों में छात्र उपस्थिति नगण्य रही। जग नारायण इंटर कालेज वीरपुर में छात्र उपस्थिति अपेक्षाकृत कुछ अच्छी रही, लेकिन चौतरफा बाढ़ के पानी से घिरे गोड़उर, महेंद, अवथहीं, खरडीहा व जोगामुसाहिब सहित कई अन्य विद्यालयों में छात्र उपस्थिति काफी कम रही। इससे विद्यालय प्रशासन छात्रों के

पंजीकरण को लेकर चितित है। आदर्श इंटर कालेज गोड़उर के प्रभारी प्रधानाचार्य बृजेश पाठक ने बताया कि पंजीकरण की निर्धारित अंतिम तिथि 17 अगस्त तक ही समाप्त हो रही है। ऐसे में छात्रों के विद्यालय नहीं आने के कारण पंजीकरण का कार्य समय से कर पाना काफी कठिन हो रहा है। 

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad