Type Here to Get Search Results !

Trending News

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में बेटी ने प्रेमी से कराई थी पिता की हत्या, प्रेमी युगल समेत 3 गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में प्रेम प्रसंग में रोड़ा बनने पर बेटी ने प्रेमी व उसके साथी से किराना व्यवसायी राजेश कुमार जायसवाल की गोली मारकर हत्या कराई थी। गत 29 जुलाई की रात रोहनिया थाना क्षेत्र में करनाडाड़ी ओवरब्रिज पर हुई इस हत्या के मामले में सोमवार को किराना व्यवसायी की पुत्री आंचल उसके प्रेमी जावेद व दोस्त आकिब को गिरफ्तार कर ग्रामीण क्षेत्र की क्राइम ब्रांच व पुलिस ने वारदात में प्रयुक्त .32 बोर की देसी पिस्टल, दो मैग्जीन, दो कारतूस, बाइक व तीन मोबाइल फोन बरामद किए। इस सफलता पर पुलिस टीम को पांच हजार के पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

ग्रामीण पुलिस अधीक्षक अमित वर्मा ने बताया कि मिर्जामुराद थाना क्षेत्र के तमाचाबाद निवासी राजेश किराना व्यवसायी थे। उनकी सास निर्मला देवी तबीयत खराब होने के कारण भदवर स्थित निजी अस्पताल में भर्ती हैं। वह नित्य रात का खाना लेकर अस्पताल जाते थे। गत 29 जुलाई की रात वह बाइक से जा रहे थे कि तभी अंधाधुंध फायरिंग कर उनकी हत्या कर दी गई। हालांकि, तब स्वजन को यह मालूम नहीं था कि हत्या का ताना-बाना उनके ही घर से बुना गया था। राजेश के बेटे करन ने भूमि विवाद को लेकर उनके भाई, पत्नी व बेटों पर हत्या के आरोप में मुकदमा दर्ज कराया था। वारदात के बाद क्राइम ब्रांच व पुलिस की दो टीमें वारदात को उजागर करने के लिए लगाई गई थीं। 

पासपोर्ट के आवेदन पर लिखे नंबर से खुला प्रेम प्रसंग का राज

किराना व्यवसायी की बेटी बीएससी तृतीय वर्ष की छात्रा थी। उसका गांव के ही रहने वाले पेशे से ड्राइवर जावेद के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। करीब एक वर्ष पूर्व इस प्रेम प्रसंग का राज खुला था। दरअसल, किराना व्यवसायी की बेटी ने पासपोर्ट बनवाने के लिए आवेदन किया था। उसमें पिता की जगह उसने अपने प्रेमी जावेद का मोबाइल नंबर दिया था। सत्यापन के दौरान पुलिस आंचल के घर पहुंची और उसके पिता को बताया कि उसने अपने आवेदन पत्र में जावेद का नंबर दिया है। इसे लेकर किराना व्यवसायी ने बेटी को जमकर फटकार लगाई थी और जावेद से दूर रहने की कड़ी हिदायद दी थी। इसके बाद भी वह जिद पर अड़ी थी कि वह जावेद से शादी करेगी। शादी करने के बाद दुबई जाकर एयरहोस्टेस की नौकरी करेगी। हालांकि राजेश उसे लगातार समझाते रहे कि जावेद से दूर ही रहे। 

ऐसे रची साजिश

प्रेम प्रसंग का पता चलने पर किराना व्यवसायी ने बेटी आंचल के घर से निकलने और उसकी बातचीत पर सख्ती बढ़ा दी थी। इससे आंचल व प्रेमी जावेद परेशान हो गए थे। उसने ही जावेद को बताया कि उसके पिता और चाचा के बीच झगड़ा चल रहा है। इस समय उसके पिता की हत्या हो जाएगी तो संदेह चाचा पर ही होगा। इसके साथ ही दोनों की शादी में फिर कोई अड़चन भी नहीं रह जाएगी। इसके बाद आंचल के पिता को रास्ते से हटाने की साजिश में जावेद ने अपने दोस्त आकिब को भी शामिल किया।

बिहार से खरीदा पिस्टल, रेकी भी की

साजिश को अंजाम तक पहुंचाने के लिए जावेद ने बिहार के विक्रमगंज जाकर 25 हजार रुपये में एक पिस्टल खरीदा। इतना ही नहीं उसने अपने दोस्त के साथ अस्पताल जाने तक के मार्ग पर किराना व्यवसायी की रेकी भी की। सीसीटीवी कैमरे की फुटेज से भी पुलिस को रेकी की पुष्टि हुई। वारदात की रात जब किराना व्यवसायी घर से खाना पहुंचाने अस्पताल जब निकले तो आंचल ने जावेद के मोबाइल फोन पर कॉल कर इसकी जानकारी दी। इसके बाद जावेद व आकिब ने बाइक से पीछा किया और सुनसान मिलने पर उनकी हत्या कर दी।

ऐसे खुला हत्या का राज

किराना व्यवसायी की हत्या के बाद उनके बेटे ने भूमि विवाद में हत्या का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने सर्विलांस व खुफिया तरीके से तफ्तीश शुरू की तो प्रकाश में आया कि किराना व्यवसायी की बेटी की बात एक युवक से लगातार होती है। व्यवसायी की हत्या के पहले भी उसी युवक से उनकी बेटी की बात हुई थी। वारदात के बाद भी उसी युवक से बात हुई थी। इसके बाद युवक को मोबाइल फोन बंद हो गया था। इसी आधार पर पुलिस का संदेह आंचल और जावेद पर गहरा गया। दोनों से पूछताछ शुरू हुई तो पहले उन्होंने गुमराह करने की कोशिश की, लेकिन पुलिस की सख्ती के आगे दोनों टूट गए। एसपी ग्रामीण अमित वर्मा ने बताया कि इस सफलता में क्राइम ब्रांच प्रभारी अश्वनी चतुर्वेदी, रोहनिया थाना प्रभारी हरिनाथ भारती व उनकी टीम सहित सर्विलांस प्रभारी अरुण सिंह की महत्वपूर्ण भूमिका थी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad