Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

विधायक मुख्तार अंसारी ने पेशी में जज से कहा - मेरे बैरक में नहीं लगी टीवी, मच्‍छरदानी और बिस्‍तर

0

मऊ जिले की गैंगस्टर कोर्ट के प्रभारी अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश आसिफ इकबाल रिजवी के समक्ष सोमवार को मऊ सदर विधायक मुख्तार अंसारी की वीडियो कांफ्रेंसिंग से पेशी हुई। इस मामले में ज्यूडिशियल रिमांड स्वीकृत किया। न्यायालय ने इस मामले में अगली पेशी छह अक्तूबर नियत कर दी। उधर विधायक मुख्तार अंसारी टीवी स्क्रीन पर पांच मिनट दिखे।

सबसे पहले न्यायाधीश ने उनका कुशलक्षेम पूछा। विधायक ने बताया कि अभी तक उनके बैरक में टीवी नहीं लगी है। विधायक के अधिवक्ता दारोगा सिंह ने बताया कि कोरोना गाइडलाइन के चलते विधायक की पेशी वीडियो कांफ्रेंसिंग से हुई। इस दौरान मुख्तार अंसारी बांदा जेल से दो बजे वीडियो कांफ्रेंसिंग से जुड़े। स्क्रीन पर पर विधायक लगातार पांच मिनट तक दिखे। इस दौरान अपने प्रकरण की कम और डिमांड की बातें उन्‍होंने प्रमुखता से रखते हुए अपनी सहूलिसत की डिमांड की। 

विधायक ने अपना कुशलक्षेम न्यायाधीश को बताया तथा कहा कि आपके आदेश के बावजूद अब तक उनके बैरक में टीवी नहीं लगी। बांदा जेल से मुख्तार को सुनने के बाद न्यायाधीश ने अगली पेशी की तिथि छह अक्टूबर निर्धारित कर दिया। फर्जी लाइसेंस मामले में दक्षिणटोला थाने में मुख्तार अंसारी सहित आधा दर्जन लोगों को आरोपित बनाया गया है।

मुख्‍तार की डिमांड चर्चा में : मुख्‍तार अंसारी की इससे पहले भी कई पेशी हो चुकी है। मुख्‍तार अंसारी ने अपने कई पेशी के दौरान जज से अपने लिए सुविधाओं की मांग करते हुए कई आवश्‍यकताओं की डिमांड और जरूरतों की फेहरिश्‍त जारी की। 

इसमें सबसे अधिक चर्चा में फ‍िजियोथेरेपी की डिमांड रही, जिस पर अदालत की ओर से जेल मैनुअल के अनुसार सुविधा प्रदान करने की जानकारी दी गई। वहीं मच्‍छरदानी, बिस्‍तर, चिकित्‍सा सुविधा और टीवी को लेकर डिमांड की खूब चर्चा रही है। बताते चलें कि जेल बदलने के दौरान व्‍हीलचेयर पर नजर आए मुख्‍तार बांदा जेल में रहने के दौरान कोरोना पॉजिटिव भी हुए थे। 

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad