Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

अलकायदा के आतंकियों ने चंदौली से खरीदे थे हथियार, पुलिस को पता ही नहीं चला

0

लखनऊ में पकड़े गए अलकायदा के आतंकियों के तार पूर्वांचल से भी जुड़े हैं। एटीएस की पूछताछ में आतंकियों ने चंदौली से असलहा और कारतूस खरीदने की बात स्वीकार की थी। हालांकि स्थानीय पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लग सकी। ऐसे में सुरक्षा तंत्र की कार्यप्रणाली सवालों के घेरे में है। हालांकि मामला संज्ञान में आने के बाद महकमा अलर्ट हो गया है। पुलिस अपने स्तर से छानबीन में जुटी है।

स्वतंत्रता दिवस पर प्रमुख शहरों में विस्फोट की साजिश रचने वाले आतंकियों को एटीएस ने लखनऊ से गिरफ्तार किया था। उनसे पूछताछ में कई राज बाहर आए। आतंकियों ने कानपुर, मुजफ्फरनगर, गाजियाबाद और चंदौली से असलहे और कारतूस खरीदने की बात स्वीकार की थी। इसके बाद सुनियोजित ढंग से बम विस्फोट कर सुरक्षा व्यवस्था को चुनौती देने की साजिश रच रहे थे। हालांकि इसके बारे में जनपद की पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों को कुछ भी पता नहीं चल सका। यहां तक एलआइयू भी इससे अनभिज्ञ रहा। एटीएस की पूछताछ में चंदौली का नाम आने के बाद पुलिस व एलआइयू के होश उड़े हैं।

पकड़ा जा चुका है आइएसआइ एजेंट : 

जिले में दो साल पहले सेना के खुफिया विभाग व एटीएस की टीम ने मुगलसराय कोतवाली क्षेत्र के चौरहट गांव से आइएसआइ एजेंट राशिद को पकड़ा था। उसने पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ के कहने पर सेना व अर्धसैनिक बलों के बेस कैंप और प्रमुख स्थानों की फोटो और वीडियो बनाकर उपलब्ध कराए थे। इसके बाद से ही जिले में आतंकियों की पैठ बनने की सुगबुगाहट तेज हो गई थी। देश के सभी प्रमुख स्थानों को जोड़ने वाला पीडीडीयू नगर जंक्शन भी काफी संवेदनशील है। 

वाराणसी के आसपास सक्रियता :

आतंकवादियों से पूछताछ के बाद जो खुलासे हो रहे हैं वह चौंकाने वाले हैं। दरअसल चंदौली वाराणसी का पड़ोसी जिला है। ऐसे में आसपास के जिलों में आतंकियों की सक्रियता पुलिस व्‍यवस्‍था पर सवाल खड़े करती है। चंदौली जिले में बिहार के बने असलहों की खूब तस्‍करी होती रही है। लेकिन, सीमा पुलिस उगाही के चक्‍कर में कई बार लापरवाही को जन्‍म देती है, जिसमें एक यह भी मामला फेहरिश्‍त में जुड़ने जा रहा है। वहीं लखनऊ में गिरफ्तार आतंकियों के पूछताछ के दौरान कुबूलनामे के बाद पुलिस अलर्ट हो गई है। आतंकियों को असलहा व कारतूस की आपूर्ति से सुरक्षा पर सवाल खड़े होने के बाद अब स्‍थानीय सूत्रों की भी धर पकड़ की तैयारियां जोरों पर हैं। 

बोले पुलिस अधिकारी: 

आतंकियों के जिले से हथियार खरीदने की बात सामने आने के बाद सतर्कता बढ़ा दी गई है। अपने स्तर से छानबीन की जा रही है। जल्द ही कोई न कोई सुराग हाथ लगेगा। 

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad