Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

गाजीपुर: पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का काम अब जल्द होगा पूरा, कंट्रक्शन कंपनी निर्माण कार्य में रात-दिन जुटी

0

देश का सबसे लंबा सुंदर और मजबूत पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे को पूरा करने के लिए रात-दिन काम चल रहा है। गाजीपुर में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का 48 किमी भाग है, जिस पर अभी फिनिसिंग के साथ सर्विस रोड, नाली, वृक्षारोपण के साथ कुछ पीसी का कार्य होना बाकी है। अधिकारियों ने बताया कि चल रहा काम कुल निर्माण का पांच फीसद हिस्सा है।

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का 95 फीसद काम पूरा हो चुका है। कुछ ही दिनों का काम शेष बचा है, लेकिन इसमें कितने दिन लग सकते हैं, पहले से बता पाना मुश्किल है। पिछले दिनों लॉकडाउन के बाद इधर बरसात के महीने में एक्सप्रेस-वे का काम प्रभावित हुआ है। इसके बावजूद भी काम पूरा करने के लिए कंट्रक्शन कंपनी निर्माण कार्य में रात-दिन जुटी है।

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का ड्रीम प्रोजेक्ट है। यही कारण है कि इसे समय से पूरा करने के लिए मुख्यमंत्री के साथ मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव एवं औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना का दौरा लगातार होता रहा है। सरकार की मंशा है कि इस साल 15 अगस्त के आसपास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों एक्सप्रेस वे का शुभारंभ हो जाए।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी और औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने अपने पिछले दौरे में बताया था कि जुलाई के अंत तक पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे को जनता के लिए खोल दिया जाएगा। उस समय भी 95 फीसद काम पूरा होने की बात कही थी। इस बात को करीब एक महीना हो गया, लेकिन अभी भी निर्माण कार्य से जुड़े अधिकारी 95 प्रतिशत ही कार्य पूर्ण होना बता रहे हैं।

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की लंबाई 340 किमी है। इसका निर्माण आठ पैकेज में किया जा रहा है। एक्सप्रेस-वे का आठवां पैकेज गाजीपुर है जो 48 किमी लंबा है। जिले में मरदह के हैदरगंज से भांवरकोल के हैदरिया तक एक्सप्रेस-वे फैला है।

लखनऊ से शुरू पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे में 60 आरओबी, 60 मेजर ब्रिज, 123 माइनर ब्रिज, 223 अंडरपास के साथ एक हवाई पट्टी का निर्माण किया जा रहा है। एक्सप्रेस-वे के निर्माण में 22 हजार 494 करोड़ रुपये खर्च भी होने हैं। मुख्यमंत्री की सख्त हिदायत है कि क्वालिटी से कतई समझौता नहीं किया जाएगा। किसी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने भी इस साल जून में एक्सप्रेस-वे को लेकर अपने दौरे में गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने पर बल दिया था। उन्होंने बुढ़नपुर स्थित ओरिएंटल स्ट्रक्चरल इंजीनियर्स प्राइवेट लिमिटेड के कार्यालय में यूपीडा सहित जिले के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की थी। जिसमें जुलाई के अंत तक काम खत्म करने की बात कही गई थी।

इधर, लॉकडाउन और बरसात की वजह से काम पर थोड़ा प्रभाव हुआ है। फिर भी कार्यदायी संस्था इसे पूरा करने के लिए रात दिन काम कर रही है। एक्सप्रेस-वे को पूर्ण करने में जो अभी काम बाकी है उसमें सर्विस रोड नाली पेंटिंग वृक्षारोपण के साथ कुछ पीसी वर्क रह गया है जिसे बहुत तेजी के साथ पूर्ण करने पर काम जा रहा है।

दिन-रात काम कराया जा रहा

कासिमाबाद पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के पैकेज 8 का निर्माण कार्य कर रही ओरिएंटल स्ट्रक्चरल इंजिनियर्स प्राइवेट लिमिटेड के अधिकारी अजीत सिंह ने बताया कि एक्सप्रेस-वे के किनारे लगे साइन बोर्ड, सुरक्षा के लिए लगी लोहे की मोटी-मोटी रेलिंग को एक्सप्रेस-वे के किनारे वाले गांव के ग्रामीण तोड़फोड़ कर रहे हैं एवं सामानों की चोरी की कर रहे हैं। जिसके कारण काफी दिक्कतें उठानी पड़ रही हैं। उन्होंने बताया कि गाजीपुर जनपद के 48 किलोमीटर भाग पर काम पूरा होने की स्थिति में है। कंपनी की तरफ से रात-दिन काम कराया जा रहा है।

कासिमाबाद में देखने लायक है एक्सप्रेस-वे

कासिमाबाद में पूर्वांचल एक्सप्रेस वे की सुंदरता अब देखने लायक है। एक्सप्रेस-वे पर पेंटिंग, वृक्षारोपण और लाइट का कार्य जहां पूरा हो गया है, वह जगह काफी सुंदर दिख रही है। यही कारण है कि एक्सप्रेस-वे पर आसपास के ग्रामीणों के साथ 15 से 20 किलोमीटर की दूरी वाले लोग पिकनिक जन्मदिन मैरिज एनिवर्सरी के साथ मौज मस्ती करते युवा देखे जा रहे हैं।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad