Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे की रफ्तार बढ़ेगी, July से फर्राटा भरने लगेंगी गाड़ियां, मिलेंगे रोजगार के मौके

0

प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के निर्माण कार्य की प्रगति की समीक्षा करने  के लिए शनिवार को  आजमगढ़ पहुंचे। उन्होेने जिले  में निर्माणाधीन पैकेज -6 का निरीक्षण किया और अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक भी की। इस दौरान मंत्री सतीश महाना ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का कार्य ओवर आल 90 प्रतिशत पूरा हो चुका है और जून तक पूरा कैरेज वे चालू हो जायेगा।

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का निरीक्षण के करने के लिए औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना प्रदेश के अपर मुख्यसचिव गृह व यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अवनीश अवस्थी, अपर मुख्य सचिव औद्योगिक विकास अरविंद कुमार के साथ किशुनदासपुर स्थित यूपीडा के आफिस सुबह 11:45 बजे पहुंचे। यहां उन्होने अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की और बैठक के बाद एक्सप्रेस-वे का निरीक्षण किया। निरीक्षण के बाद मंत्री सतीश महाना ने बताया कि एक्सप्रेस-वे का कार्य समय से पहले पूरा हो जायेगा। एक्सप्रेस-वे का 90 प्रतिशत कार्य पूरा हो गया है। एक्सप्रेस-वे जून तक पूरा कैरेज वे चालू हो जायेगा। उन्होने कहा कि कोविड के कारण जो कुछ काम नहीं हुए थे उनको भी दस जुलाई तक पूरा कर लिया जायेगा । उन्होने विश्वास व्यक्त किया कि एक्सप्रेस-वे पूर्वाचल के लोगों के लिए लाइफ लाइन साबित होगा। उन्होने कहा कि एक्सप्रेस-वे आर्थिक उत्थान, प्रगति के लिए यहां के लोगों के लिए वरदान साबित होगा। उन्होने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर जहां से भी लोग चढ़ते व उतरते है। वहां के किनारो की जमीनों को चिन्हित कर लिया जाय, वहां उद्योग स्थापित किये जायेगे। उन्होने कहा कि जो लोग इस क्षेत्र में उद्योग लगाना चाहते थे उनको भी अब दूसरे प्रदेश की तरफ नहीं जाना पड़ेगा।

गौरतलब है कि 14 जुलाई 2018 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आजमगढ़ के मंदुरी हवाई पट्टी के पास से इस महात्वाकांक्षी परियोजना का शिलान्यास किया था। यह एक्सप्रेस-वे 'आगरा से लखनऊ एक्सप्रेस-वे' और 'यमुना एक्सप्रेसवे' से भी जुड़ेगा। माना जा रहा है कि निर्माण कार्य पूरा होने पर इसके लोकार्पण के लिए खुद पीएम मोदी यहां आ सकते हैं। 

गाजीपुर से बनारस और बलिया के लिए बनेगा लिंक रोड़ 

कनेक्टिविटी को लेकर पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पूर्वांचल के लिहाज से सबसे बड़ा प्रोजेक्ट है। इसमें कुल 18 फ्लाईओवर, सात रेलवे ओवरब्रिज,  सात लंबे पुल, 118 छोटे पुल, छह टोल प्लाजा,  271 अंडरपास और 503 पुलियों का निर्माण कार्य लगभग पूरा होने को है। गाजीपुर में एक लिंक रोड के माध्यम से वाराणसी और बलिया को भी एक्सप्रेस-वे से जोड़ा जाएगा। 

सड़क का 90 फीसदी काम पूरा 

गाजीपुर में कई जगह सड़क की एक लेन शुरू होने में समय लगेगा। इसमें नसीरपुर में पुलिया अधूरी है जबकि मिट्टी का काम पूरा हो चुका है। दो जगह अंडरपास का काम भी अभी प्रगति पर है। अगले माह तक यह भी पूरा हो जाएगा। ओरियंटल इन्फ्रास्ट्रक्चर के अनुसार 90 फीसदी से अधिक काम पूरा हो चुका है, शेष काम को इस माह के अंत तक पूरा करने का लक्ष्य है। 

इन जिलों से गुजरेगा एक्सप्रेस-वे 

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, अयोध्या, सुल्तानपुर, आंबेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ तथा गाजीपुर जिले से होकर गुजरेगा। इसे रिकार्ड समय में पूरा करने के उद्देश्य से सीएम योगी खुद इसकी प्रगति देखने आजमगढ़ समेत इन जिलों का दौरा कर चुके हैं। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे 165 किलोमीटर लंबे आगरा-ग्रेटर नोएडा यमुना एक्सप्रेस-वे और 302 किमी लंबे आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे के माध्यम से दिल्ली को भी कनेक्ट करेगा। 

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad