Featured

Type Here to Get Search Results !

गुरुवार दोपहर प्री-मानसून की पहली बारिश में गाजीपुर में तर-बतर

0

गाजीपुर में पिछले कई दिनों से धूप, गर्मी और उमस के बीच मौसम की मार झेल रहे जनपदवासियों को गुरुवार दोपहर राहत की बरसात मिली। सुबह से आसमान में छाए काले बादलों की ओट ने दोपहर बाद सराबोर कर दिया। प्री मानसून की आधे से एक घंटे की बारिश से शहर से देहात तक कई इलाके में पानी-पानी हो गया। 

झमाझम बारिश के बीच ग्रामीण इलाकों में सड़कों पर जलभराव हो गया वहीं खेतों में भी पानी लग गया। हर जगह-जगह जलभराव की समस्या उत्पन्न हो गई, जिससे लोगों को दो-चार होना पड़ा। सुबह मौसम जहां सुहाना रहा वहीं दोपहर बाद खिली धूप ने उमस बढ़ा दी है। तापमान में चार से पांच डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट आई है और अधिकतम तापमान गिरकर 27 डिग्री तक पहुंच गया। हालांकि मौसम विज्ञानी अगले तीन दिन प्री मानसूनी बारिश की पूरी सम्भावना के साथ बेहतर बारिश के आसार जता रहे हैं।

गुरुवार की सुबह गाजीपुर में काले बादलों ने मौसम बदला तो दोपहर बरसात ने गर्मी से राहत दिलाई। तेज हवाओं के बीच बारिश से मौसम सुहावना हो गया। गाजीपुर शहर में हल्की लेकिन आसपास के इलाकों में तेज बारिश हुई है। सुबह से ही मौसम का मिजाज बदल गया। तेज ठंडी हवाओं साथ छाए घने बादलों ने मानसून का अहसास भी करा दिया। सुबह से ही बूंदाबांदी के बाद रुक रुक कर बारिश ने घर के बाहर निकलने वालों का मिजाज सुखद कर दिया। बताते चलें कि गाजीपुर में बीते दिनों से लगातार मौसम में परिवर्तन हो रहा है। आसमान में लगातार बदली के बाद बारिश नहीं होने के कारण उमस का प्रकोप भी बढ़ गया है। 

सोमवार की रात आई आंधी के बाद भी तापमान में गिरावट नहीं गई तो मंगलवार की बूंदाबांदी ने इसे बढ़ा दिया। वहीं बुधवार की भोर से ही आसमान में काले बादल छाए और तेज हवाएं चली, इससे मौसम सुहाना हो गया। मानसून की सुगबुगहट देख हर कोई गर्मी से थोड़ी राहत की उम्मीद लगाए बैठा था। दो बजे के करीब तेज हवाओं के साथ बरसात शुरू हुई तो की लोगों को गर्मी से राहत मिली। मौसम विज्ञानी के अनुसार, प्री मानसून बरसात शुरू होते ही अधिकतम तापमान में करीब 5 डिग्री की गिरावट आ सकती है और गर्मी से राहत मिल सकेगी। 

वहीं आधे घंटे की बारिश से ही शहर के कई इलाकों में जलभराव की समस्या उत्पन्न हो गई। पहली ही बरसात में अधूरे इंतजामों और साफ-सफाई व्यवस्था की पोल खुल गई है। ऐसे ही हालात जिले के भांवरकोल, करंडा, मरदह, जखनियां, देवकली, सादात, सैदपुर, खानपुर, नंदगंज, करीमुद्दीनपुर, मुहम्मदाबाद, पतार, सेवराई, गहमर, दिलदारनगर, खिदिरपुर, बारा, रेवतीपुर, नगसर, सिधागरघाट, कासिमाबाद, कठवामोड़ में भी नजर आए।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad