Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

राजकीय मेडिकल कालेज के दो डाक्टरों ने दिया इस्तीफा

0

राजकीय मेडिकल कालेज में पदभार ग्रहण करने के बाद दो जूनियर डाक्टरों डा. अवनीश कुमार व डा. राजीव गुप्ता ने इस्तीफा दे दिया है। वहीं आधा दर्जन और जूनियर डाक्टर इस्तीफा देने की तैयारी में हैं। इससे मेडिकल कालेज में आए जूनियर डाक्टरों की संख्या घटकर 33 रह गई है। मेडिकल कालेज का प्रथम बैच शुरू होने से पहले ही जूनियर डाक्टरों का इस्तीफा देना सिर मुड़ाते ओले पड़ने की तरह है।

राजकीय मेडिकल कालेज के प्रधानाचार्य डा. आरके दीक्षित ने अपना पदभार ग्रहण करने के बाद शासन द्वारा नियुक्त 15 टीचिग फैक ल्टी के प्रोफेसर्स व सीनियर रेजीडेंट डाक्टर और 55 जूनियर डाक्टरों को ज्वाइनिंग लेटर भेजना शुरू किया । इसके बाद एक-एक कर सभी लोग अपना पदभार ग्रहण करने लगे। अब तक यहां पर 35 जूनियर डाक्टर, 10 टीचिग फैक ल्टी व दो सीनियर रेजीडेंट डाक्टरों ने पदभार ग्रहण किया है। वहीं 20 और जूनियर डाक्टरों औन प्रोफेसरों को अभी ज्वाइन करना है। जूनियर डाक्टरों की ड्यूटी जिला अस्पताल के विभिन्न विभागों सहित इमरजेंसी में लगा दी गई। वहीं टीचिग फैक ल्टी व सीनियर रेजीडेंट डाक्टरों में से चार लोगों की ड्यूटी ओपीडी में लगाई गई, जिन्होंने सोमवार से ओपीडी शुरू भी कर दिया।

राजकीय मेडिकल कालेज के दो जूनियर डाक्टरों ने अपना इस्तीफा दे दिया है। इससे जिला अस्पताल पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। यहां पर पर्याप्त डाक्टर्स हैं।

किसी भी राजकीय मेडिकल कालेज में ज्वाइन करने के बाद इस्तीफा देना एक सामान्य प्रक्रिया है। ऐसे डाक्टरों को उम्मीद होती है कि वह सरकारी नौकरी भी कर लेंगे और आगे पढ़ाई भी जारी रखेंगे, लेकिन जब पढ़ाई करने में समस्या आती है तो इस्तीफा दे देते हैं। इससे मेडिकल कालेज पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।- डा. आरके दीक्षित, प्रधानाचार्य राजकीय मेडिकल कालेज।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad