Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

दिल्ली और मुंबई जाने वाले पूर्वांचल के रेल यात्रियों को बड़ी राहत, इन रूटों पर दस ट्रेनों के फेरे बढ़ाए गए

0

दिल्ली और मुंबई जाने वाले पूर्वांचल के प्रवासियों के लिए राहत भरी खबर है। रेलवे प्रशासन ने गोरखपुर- पनवेल सहित गोरखपुर से बनकर पहले से चल रहीं दस स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेनों का फेरा बढ़ा दिया है। मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार यह सभी ट्रेनें पूर्व निर्धारित समय, ठहराव और मार्ग के आधार पर चलाई जाएंगी।

इन ट्रेनों के बढ़े फेरे

  • 05063 गोरखपुर-पनवेल एक जुलाई को चलेगी।
  • 05064 पनवेल- गोरखपुर दो जुलाई को चलेगी।
  • 05401 गोरखपुर- एलटीटी 14 व 21 जुलाई को चलेगी।
  • 05402 एलटीटी- गोरखपुर 16 व 23 जुलाई को चलेगी।
  • 05301 गोरखपुर- बांद्रा टर्मिनस नौ और 16 जुलाई को।
  • 05302 बांद्रा टर्मिनस- गोरखपुर दस और 17 जुलाई को।
  • 05195 गोरखपुर-आनन्द विहार एक व पांच जुलाई को।
  • 05196 आनन्द विहार- गोरखपुर दो व छह जुलाई को।
  • 05303 गोरखपुर- एर्नाकुलम तीन जुलाई को चलेगी।
  • 05304 एर्नाकुलम-गोरखपुर पांच जुलाई को चलेगी।

एलएचबी कोचों से ही चलाई जाएंगी एनईआर की ट्रेनें

पूर्वोत्तर रेलवे के महाप्रबंधक विनय कुमार त्रिपाठी ने मंगलवार को तीनों मंडल (लखनऊ, वाराणसी और इज्जतनगर) के मंडल रेल प्रबंधकों और प्रमुख विभागाध्यक्षों के साथ वर्चुअल बैठक की। इस दौरान उन्होंने यात्री सुविधाओं और सभी ट्रेनों में अति आधुनिक लिंक हाफमैन बुश (एलएचबी) कोच लगाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि पुराने कोचों से चल रही ट्रेनों में भी प्राथमिकता के आधार पर एलएचबी कोच लगाएं। आने वाले दिनों में पूर्वोत्तर रेलवे की सभी ट्रेनें एलएचबी कोचों से ही चलाई जाएंगी।

संरक्षा को और मजबूत करने पर बल देते हुए उन्होंने अधिकारियों से संबंधित रेलकर्मियों के लिए अनवरत कार्यशाला आयोजित करने का सुझाव दिया। मानसून के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों का सौ फीसद अनुपालन कराने, रेलवे अस्पतालों में तैयार हो रहे आक्सीजन प्लांट को यथाशीघ्र तैयार कराने तथा समपार फाटकों पर चल रहे इंटरलाकिंग को गुणवत्ता के साथ समय से पूरा करने के लिए निर्देशित किया।

अब 31 जुलाई तक बनेंगे रेलकर्मियों के मैनुअल पास

रेलकर्मियों के लिए राहत भरी खबर है। अब वे 31 जुलाई तक मैनुअल पास बनवा सकेंगे। रेलवे बोर्ड ने कोरोना काल में कर्मचारियों को राहत देते हुए पांचवीं बार एक माह के लिए मैनुअल पास की समय सीमा बढ़ाई है। 30 जून तक मैनुअल पास के लिए दिशा-निर्देश जारी था। बोर्ड के अनुसार अब एक अगस्त से ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट सिस्टम (एचआरएमएस) पर आनलाइन पास व वैरियस माड्यूल अनिवार्य होंगे। रेलवे बोर्ड ने भले ही रेलकर्मियों को राहत प्रदान की है, लेकिन पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन ने एचआरएमएस पर आनलाइन पास अनिवार्य कर दिया है। रेलकर्मियों के मैनुअल पास मान्य नहीं हो रहे हैं।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad