Featured

Type Here to Get Search Results !

बिना दूल्हे के लड़की वालों के दरवाजे पर पहुंची बारात तो दूल्हे की जगह बारातियों में आए युवक से करा दी शादी

0

कोरोना महामारी के दौरान यूपी के कानपुर से एक अनोखी शादी का मामला सामने आया है। यहां रिश्ता तय होने के बाद बारात को लेकर दोनों ओर से जोर-जोर से तैयारियां चल रही थीं। शादी की तारीख भी आ गई। दूल्हे पक्ष के लोग बारात ले जाने की तैयारियां कर रहे थे। लड़की पक्ष वाले बारात के स्वागत की तैयारियां में जुटे थे। शाम होते-होते बारात दुल्हन लाने के लिए निकल पड़ी। नाचते-गाते बाराती लड़की पक्ष के द्वार पर पहुंच गए। लड़की पक्ष वालों ने बारातियों का स्वागत किया। इसी बीच अचानक ऐसा हुआ कि सभी देखकर सभी चौंक गए। दरअसल बारात तो आई थी, लेकिन बारातियों के साथ दूल्हा किसी को नहीं दिखाई दिया। इसको लेकर काफी हंगामा हो गया। लड़की पक्ष वालों ने बारात में आए बिचौलिए को पकड़ लिया। इसके बाद बिचौलिए ने भाई को दूल्हा बनाकर मंडप में बिठा दिया और शादी करा दी गई। 

जानकारी के अनुसार कानपुर जिले के नर्वल रायपुर में रहने वाले एक परिवार ने बेटी की शादी पड़ोस के गांव पाल्हेपुर में तय की थी। बीती 13 मई को बारात आनी थी। बारात तो आई लेकिन बिना दूल्हे के। दुल्हन को जब दूल्हे के गायब होने की जानकारी हुई तो वह भी सन्ना रह गई। बाद में बेटी की बदनामी के डर से कन्या पक्ष के लोगों ने दूल्हे के पिता और बिचौलिया को पकड़ लिया। इस पर बिचौलिया ने आगे आकर भाई से शादी कराने का प्रस्ताव रख दिया। बदनामी के डर से लड़की पक्ष ने आनन-फानन में बिचौलिए के भाई को दूल्हे की जगह मंडप में बिठा दिया। इसके बाद द्वारचार की रस्मे अदा की गईं। जयमाल की रस्म भी अदा की गई। सात फेर भी शुरू हो गए, लेकिन दूल्हे का कहीं कोई पता नहीं चल पाया। 

शादी के दिन दूल्हा गायब, परिवार में हड़कंप

कानपुर जिले के नर्वल के रायपुर गांव में शादी वाले दिन दूल्हा गायब हो जाने से परिवार में हड़कंप मच गया। नर्वल के रायपुर गांव निवासी युवक का विवाह पाल्हेपुर गांव में तय हुआ था। 13 मई को युवक की बारात जानी थी। पिता के अनुसार सुबह वह बेटे के साथ नौगवां गांव सैलून में कटिंग और शेविंग कराने के लिए गए थे, जहां पर वह पिता को बैठाकर कुछ सामान लेने जाने की बात कहकर निकल गया। काफी देर तक जब लड़का वापस नहीं लौटा तो पिता को चिंता हुई। उन्होंने घर पहुंचकर परिवार वालों से पूछा तो किसी को लड़के के बारे में जानकारी नहीं थी। शाम होते-होते घर पर रिश्तेदार जमा हो गए और बारात उठने का समय होने लगा तो परिवार वालों की चिंता बढ़ गई। उन्होंने बेटे की खोजबीन शुरू की, लेकिन कुछ पता न चल सका। उसके गायब हो जाने से परिवार में हड़कंप मच गया। 

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad