Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

गाजीपुर जिला अस्पताल में मरीज मांग रहे ऑक्सीजन, डाक्टर दे रहे दिलासा

0

क्षेत्र में कोरोना से बिगड़ते हालात और बंद चल रहे अस्पतालों से नान कोविड मरीजों को उपचार के लिए भटकना पड़ रहा है। सरकारी और निजी हास्पिटलों के ओपीडी बंद होने के बाद मरीज निजी क्लिनिक खोलकर बैठे डाक्टरों पर निर्भर रह गए हैं। ग्रामीण इलाकों में इस हालात में प्रतिदिन सैकड़ों मरीजों के उपचार की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। इन मरीजों को पूर्ववर्ती में जहां इलाज करा रहे थे वहां के निजी हास्पिटलों से भी कोई मदद नहीं मिल पा रही है। 

ऐसे विषम परिस्थिति में मरीज इधर-उधर भटक कर चट्टी चौराहों के नीमहकीमों की शरण में जा रहे हैं। वहां मरीजों के आर्थिक और शारीरिक शोषण के बाद हालत बिगड़ने पर उनके स्वजनों को परेशानी झेलनी पड़ रही है। गंभीर बीमारी जैसे सांस, किडनी, हृदय आदि रोगों से ग्रसित मरीजों को उनके डाक्टर इलाज से दो दिन पूर्व का कोविड निगेटिव रिपोर्ट मांग रहे हैं, जिससे तत्काल में रिपोर्ट न दे पाने की स्थिति में इन मरीजों का इलाज रुक जा रहा है। आंख, नाक, कान, पेट, गला आदि के मरीजों के साथ भी यही हाल है जिससे लोग परेशान हैं। टेली मेडिसिन के तहत परामर्श के लिए प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराए गए नंबरों पर घंटों फोन के बाद किसी डाक्टर का फोन नहीं उठता है। कई असहाय और गंभीर बीमारी से पीड़ित लोग इलाज के अभाव लोग या तो तड़प रहे हैं या दम तोड़ दे रहे हैं।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad