Featured

Type Here to Get Search Results !

चकिया संयुक्त चिकित्सालय के एल-टू अस्पताल में आक्सीजन प्लांट चालू

0

कोरोना मरीजों की सांसें अब आक्सीजन की कमी से नहीं रुकेंगी। चकिया जिला संयुक्त चिकित्सालय के एल-टू अस्पताल में आक्सीजन प्लांट चालू हो गया है। वहीं जिला अस्पताल में भी एक-दो दिनों में प्लांट शुरू हो जाएगा। इससे मरीजों के इलाज में काफी सहूलियत होगी।

चकिया संयुक्त अस्पताल में एक साल से धनाभाव के कारण प्लांट नहीं लग रहा था। कोरोना की दूसरी लहर में चिकित्सा व्यवस्था चरमराई तो शासन ने इसके लिए लगभग 40 लाख रुपये धन अवमुक्त किया। एक सप्ताह में यह प्लांट चालू हो सका। जिला अस्तपाल में सीएसआर (कारपोरेट सोशल रिस्पांसबिलिटी) फंड के जरिए आक्सीजन प्लांट लगाए गए हैं। 400 एलएमपी की क्षमता वाले प्लांटों से प्रति मिनट 500 लीटर आक्सीजन का उत्पादन होगा। इससे एक साथ 50 बेड तक आक्सीजन की आपूर्ति होगी। 

पंडित कमलापति त्रिपाठी जिला अस्पताल व चकिया स्थित जिला संयुक्त चिकित्सालय में प्लांट लगाने की योजना बनाई गई थी। इसमें चकिया में प्लांट शुरू हो चुका है। इंजीनियरों की टीम ने इसको प्लेटफार्म पर लगाने के साथ ही आक्सीजन का उत्पादन और पाइपलाइन से आपूर्ति चेक कर ली है। ट्रायल का काम पूरा हो चुका है। अस्पताल के टेक्नीशियन जरूरत के हिसाब से इसे चालू कर आक्सीजन का उत्पादन कर सकते हैं। जिला अस्पताल में मशीन तो शुक्रवार की देर रात ही पहुंच गई। हालांकि इसे स्थापित कर एक-दो दिनों में आक्सीजन का उत्पादन शुरू कर दिया जाएगा। दरअसल, कोरोना काल में आक्सीजन की किल्लत हो गई थी। 

अस्पतालों में पर्याप्त मात्रा में आक्सीजन उपलब्ध नहीं थी। सिलेंडर भरवाकर प्लांटों से मंगवाने में भी समय लगता था। इतने समय में गंभीर मरीजों की सांसें अटक जाती थीं। प्लांट शुरू होने से सिलेंडर भरवाने व अन्य झंझटों से छुटकारा मिल जाएगा। अस्पतालों में आक्सीजन कांसंट्रेटर भी लगाए जा रहे हैं। जिले में 122 कांसंट्रेटर उपलब्ध हैं। यह मशीन हवा से आक्सीजन तैयार कर मरीजों तक पहुंचाती है। वैसे भी प्लांट चलते रहेंगे तो कोरोना की त्रासदी के बाद भी गंभीर मरीजों के इलाज में काफी सहूलियत होगी। 

चकिया जिला संयुक्त चिकित्सालय में आक्सीजन प्लांट का ट्रायल हो चुका है। जिला अस्पताल में भी एक-दो दिनों में इसकी शुरूआत कर दी जाएगी। जिले में आक्सीजन की कोई कमी नहीं है। स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना मरीजों के इलाज के लिए मुकम्मल इंतजाम कर लिया है।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad