Featured

Type Here to Get Search Results !

उत्तर प्रदेश: 4 मई से 8 मई तक गांवों में घर-घर कोरोना संक्रमितों का पता लगाएंगे स्वास्थ्यकर्मी

0

प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना  नवनीत सहगल ने कहा है कि मंगलवार चार मई से शनिवार आठ मई के बीच ग्रामीण क्षेत्रों में एक विशेष अभियान चलाकर 97 हजार राजस्व गावों में घर-घर जाकर कोविड लक्षण वाले लोगों से सम्पर्क किया जायेगा। सम्पर्क करने वाले इन कर्मियों के पास एन्टीजन किट भी होगी जो लोगों का एन्टीजन कोविड टेस्ट भी करेंगी तथा उन्हें मेडिसिन किट भी उपलब्ध करायेंगी ताकि संक्रमित लोगों की पहचान करते हुए समय से उपचार करते हुए प्रदेश में संक्रमण को नियंत्रित किया जा सकेगा। 

सहगल ने बताया कि अस्पतालों में प्रशिक्षित मानव संसाधन के लिए एक्स सर्विस मैन, सेवानिवृत्त चिकित्सक, आर्मी के रिटायर्ड लोग, अनुभवी पैरामेडिकल स्टाफ, मेडिकल/पैरामेडिकल के अन्तिम वर्ष के छात्र/छात्राओं की सेवाएं लिये जाने हेतु मुख्यमंत्री  द्वारा कहा गया हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड उपचार में लगे चिकित्सकों को अतिरिक्त मानदेय तय करने के लिए कहा है।

उन्होंने बताया कि  प्रदेश में रेमेडेसीवीर की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा प्रतिदिन 50,000 वॉयल का नया आवंटन किया गया है। उन्होंने बताया कि रेमेडेसीवीर को सरकारी अस्पताल के अलावा प्राइवेट अस्पतालों में भी उपलब्ध कराने के लिए जिलों  के जिलाधिकारी तथा मुख्य चिकित्साधिकारी को कहा गया है  जिससे कि लोगों को रेमेडेसीवीर सरकारी दर पर मिल सके। 

सीएम हेल्पलाइन से प्रतिदिन 50 हजार लोगों को काल किये जाये। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य मंत्री को यह जिम्मेदारी दी है कि वे प्रदेश में 02 लाख 41 हजार कोविड मरीज होम आइसोलेशन मरीजों को मेडिसिन किट मिले, उनका हालचाल लिया जाये तथा कोविड से सम्बन्धित उपचार की जानकारी भी उपलब्ध करायी जाये। प्रत्येक जिले में टेली कंसल्टेशन के लिए सम्बन्धित चिकित्सालयों के चिकित्सकों के नम्बर आम जनता के लिए प्रदर्शित किये जाये।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad