Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

कोरोना काल में चंदौली में बाहर से आने वालों पर नजर, गांव-गांव बनेंगे आइसोलेशन सेंटर

0

कोरोना काल में गैर प्रांत व महानगरों के आने वालों पर प्रशासन की नजर है। उन्हें रखने के लिए गांव-गांव आइसोलेशन सेंटर बनेंगे। जिलाधिकारी संजीव सिंह ने इसको लेकर आदेश जारी किया है। उन्होंने इसमें निगरानी समितियों व ग्राम पंचायतों की मदद लेने का सुझाव दिया है। प्रवासी आइसोलेशन सेंटर में निधारित समय तक रहने के बाद ही घर जाएंगे।

जिले में कोरोना संक्रमण चरम पर पहुंच चुका है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो मई के मध्य में संक्रमण चरम पर पहुंच सकता है। ऐसे में सतर्कता बढ़ा दी गई है। नगरों के साथ ही ग्रामीण इलाकों में संक्रमण पांव पसार चुका है। यदि शत-प्रतिशत लोगों की जांच कराई जाए तो संक्रमितों की तादाद कई गुना अधिक बढ़ सकती है। ग्रामीण इलाकों में कोरोना के लक्षण वाले तमाम रोगी हैं। उन्हें सर्दी, जुकाम, बुखार समेत अन्य तरह की शिकायतें हैं। प्रशासन ने ऐसे लोगों को अलग रखने के लिए गांव-गांव आइसोलेशन सेंटर बनाने का निर्देश दिया है। यहां प्रवासी व कोरोना के लक्षण वाले मरीजों को रखा जाएगा। साथ ही कंट्रोल रूम व निगरानी समितियों के माध्यम से इन पर नजर भी रखी जाएगी। चिकित्सकों की टीम उनसे बात कर रहन-सहन और दवा के बारे में सुझाव देगी। पूरी तरह से स्वस्थ होने के बाद लोगों को घर जाने दिया जाएगा।

फिलहाल अस्पतालों में बनाए गए हैं आइसोलेशन सेंटर

मुख्यालय स्थित पंडित कमलापति त्रिपाठी जिला संयुक्त चिकित्सालय और परिसर में स्थित एमसीएच विंग में 100 बेड से अधिक का आइसोलेशन सेंटर बनाया गया है। यहां आक्सीजन की भी सुविधा है। जिन मरीजों की हालत गंभीर है, उन्हें यहां भर्ती किया जा रहा है। वहीं सामान्य स्थिति होने पर अधिकांश मरीजों को होम आइसोलेशन में रहने की छूट दी जा रही है। हालांकि आइसोलेशन सेंटर बनने के बाद संक्रमितों को यहीं रखा जाएगा।

गांव-गांव आइसोलेशन सेंटर बनाए जाएंगे

गैर प्रांत व महानगरों से आने वाले प्रवासियों को रखने के लिए गांव-गांव आइसोलेशन सेंटर बनाए जाएंगे। इसमें ग्राम पंचायतों व निगरानी समितियों की मदद ली जाएगी। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रशासन अलर्ट है।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad