Featured

Type Here to Get Search Results !

वाराणसी: वैक्सीनेशन में देरी पर भड़के लोग, युवक को मारने दौड़े योगी सरकार में मंत्री , वीडियो वायरल

0

वाराणसी में 18 प्लस वालों का टीकाकरण के दौरान दुर्व्यवस्था का नजारा देखने को मिला। लोगों को घण्टों टीका के लिए इंतज़ार करना पड़ा। कहीं टीका नहीं पहुंचा था तो कहीं टीकाकरण के शुभारंभ के लिए मंत्री नहीं पहुंचे थे। इसको लेकर युवाओं में गुस्सा देखने को मिला। शिवपुर अर्बन सीएचसी पर एक युवक जब इसे लेकर भड़क गया तो टीकाकरण अभियान का उद्घाटन करने पहुंचे मंत्री रविंद्र जायसवाल से उसकी कहासुनी हो गई। इस पर मंत्री ने उसे मारने के लिए दौड़ा लिया। उनके गार्ड और साथ मौजूद लोगों ने मंत्री को रोकाकर युवक को भगाया।


बाद में मंत्री ने युवक के आरोपों को गंभीरता से लेते हुए बिना स्वास्थ्य केंद्र परिसर में भ्रमण कर लोगों को सुविधाएं उपलब्ध कराने, टेंट आदि लगवाने का निर्देश दिया। मंत्री ने जिसे मारने के लिए दौड़ाया उसका नाम सुनील दुबे है। वह खुशहाल नगर से आया था। उसने कहा कि टीकाकरण 12 बजे से शुरू होना था मंत्री के इंतज़ार में एक बजे गया। लोग धूप में खड़े हैं यही बात बोल दी तो मारने के लिए दौड़ा लिया।

 

सिस्टर भी मंत्री को नहीं पहचान पाई :

मंत्री ने टीकाकेंद्र के काउंटर पर पहुंचकर कुछ जानकारियां मांगी। मौके पर कंप्यूटर की व्यवस्था नहीं होने की बात सामने आई। इसको लेकर वहां मौजूद सिस्टर से मंत्री ने पूछा तो सिस्टर ने एक बारगी बताने से इनकार कर दिया। कहा कि आप कौन होते हैं पूछने वाले। हालांकि बाद में पहुंचे चिकित्सक ने मंत्री को पहचान लिया और स्वास्थ्य केंद्र में फैली दुर्व्यवस्था को खोल कर रख दिया।  कहा कि कंप्यूटर का इंतजाम नहीं होने से भेजी गई सूची के हिसाब से मैनुअल मिलान की जा रही है। इसमें थोड़ा वक्त लग रहा है। देर होने से लोगों की नाराजगी देखने को मिलेगी ही। इसके लिए स्वास्थ्य कर्मी तैयार हैं। स्टाफ भी कम है। करीब 50 फीसद कर्मी बीमार हैं। यह सुनकर मंत्री ने तत्काल सीएमओ डॉ वीबी सिंह व जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा से वार्ता की। शिवपुर स्वास्थ्य केंद्र पर कंप्यूटर का इंतजाम करने के लिए कहा। परिसर में लाइन लगाकर खड़े युवा लाभार्थियों को छांव के लिए टेंट लगाने का निर्देशित दिया। साथ ही सुझाव दिया कि एक स्वास्थ्य केंद्र पर जब 500 लोगों का टीकाकरण करना है तो 100-100 लाभार्थियों का स्लॉट बनाकर टीकाकरण करें। इससे फायदा यह होगा कि अपने स्लॉट के निर्धारित वक्त पर लाभार्थी स्वास्थ्य केंद्र पर आएगा। इससे भीड़ नहीं लगेगी जिससे व्यवस्था नहीं बिगड़ेगी।

अव्यवस्था पर मंत्री रविन्द्र जायसवाल ने कहा कि अगर किसी अस्पताल की कैपिसिटी पांच सौ है और सभी पांच सौ सुबह सुबह आ जाएंगे तो दिक्कत होगी ही। कुछ लोग सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन ही नहीं कर रहे थे। धक्कामुक्की कर रहे थे। लगातार डॉक्टर समझा रहे हैं लेकिन समझने को तैयार ही नहीं है। आपको ऑनलाइन जो भी नम्बर मिला हो लेकिन जो पहले लाइन में लगा, टीका उसे ही पहले लगेगा। कुछ लोग यह समझ ही नहीं रहे हैं और अव्यवस्था पैदा कर रहे हैं।

मण्डलीय अस्पताल पर भी देरी से पहुंचे मंत्री
वाराणसी के मण्डलीय अस्पताल पर भी मंत्री नीलकंठ तिवारी के देरी से आने के कारण टीकाकरण शुरू होने में देर लगी। यहां धर्मार्थ कार्य मंत्री को आना था। वैसे तो  टीकाकरण 12 बजे से शुरू होना था लेकिन लोग नौ बजे से ही पहुंच गए थे। इससे कड़ी धूप में लोग घण्टों खड़े रहे। मंत्री के देरी से पहुंचने से पौने एक बजे के बाद टीकाकरण शुरू हो सका।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad