Featured

Type Here to Get Search Results !

चीनी मिलों के चलने को लेकर CM योगी आदित्यनाथ का फैसला, जानिए क्या कहा

0

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि किसानों के हितों के लिए प्रतिबद्धता का इजहार करते हुए कहा कि जब तक गन्ना खेतों में रहेगा, तब तक चीनी मिलों का संचालन किया जाएगा।

सीएम योगी शुक्रवार शाम वचुर्अल माध्यम से गन्ना किसानों के साथ संवाद कर रहे थे। उन्होंने कहा कि देश एक बार फिर कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर की चपेट में है। गन्ना किसानों ने कोरोना कालखण्ड में अपने परिश्रम से देश की जनता के लिए मिठास उत्पन्न करने का कार्य किया है। पिछले वर्ष कोरोना संक्रमण के बावजूद गन्ना किसानों के कल्याण व हित को देखते हुए प्रदेश की 119 चीनी मिलों का संचालन सुनिश्चित किया गया। एक बार फिर उनके सक्रिय योगदान से हम कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर को भी परास्त करने में सफल सिद्ध होंगे। 

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने वर्ष 2०19-2० में गन्ना किसानों से 35,998 करोड़ रुपए का गन्ना खरीदा तथा गन्ना मूल्य का शत-प्रतिशत भुगतान सुनिश्चित किया। इस वर्ष 2०2०-21 में अब तक चीनी मिलों को दिए गए गन्ना मूल्य का 63 प्रतिशत से अधिक का भुगतान किया गया है। मौजूदा सरकार के कार्यकाल में अब तक प्रदेश के गन्ना किसानों को लगभग 1,33,1०० करोड़ रुपए का भुगतान किया गया है। आनलाइन पचीर् के वितरण किसानों को लाभ पहुंचा है। भ्रष्टाचार पर अंकुश लगा है। चीनी मिलों तक गन्ने को पहुंचाने में आसानी हो रही है, जिससे संक्रमण को रोकने में मदद मिली है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि गन्ना किसानों का हित सरकार की सवार्ेच्च प्राथमिकताओं में शामिल है। गन्ना किसानों की आमदनी बढ़ाने तथा उनको त्वरित गन्ना मूल्य का भुगतान किए जाने के उद्देश्य से अनेक योजनाएं चलायी जा रही हैं। इससे किसानों में निरन्तर खुशहाली आ रही है। इनके अलावा, गन्ना किसानों के लिए वेबसाइट, ई-गन्ना एप, गन्ना क्षेत्र का सवेर्, कैलेण्डर, ऑनलाइन पचीर् वितरण के नए सिस्टम से किसान लाभान्वित हुए हैं। इन सब कदमों से पारदर्शिता, ईमानदारी और प्रतिबद्धता के साथ गन्ना किसानों के भुगतान का कार्य किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश की चीनी मिलों में चीनी के साथ-साथ एथनॉल के उत्पादन को बढ़ावा मिला है। आज उत्तर प्रदेश सवार्िधक एथनॉल उत्पादन कर रहा है। उन्होंने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि यह नया प्रयोग गन्ना किसानों के लिए हितकारी साबित हुआ है। चीनी मिलों द्वारा सैनिटाइजर के उत्पादन से भी कोरोना संक्रमण से लड़ने में मदद मिली। चीनी मिलों में सैनिटाइजेशन के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दिया। 

योगी ने कहा कि गन्ना किसानों के कल्याण और हित के लिए राज्य सरकार हर सम्भव कदम उठाएगी और समयबद्ध ढंग से अन्य बन्द पड़ी चीनी मिलों का संचालन सुनिश्चित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गेहूं क्रय केन्द्रों का भी संचालन कोरोना कालखण्ड में कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए सुनिश्चित किया जा रहा है। किसानों को उनकी उपज का 72 घण्टे के भीतर भुगतान किए जाने के निर्देश हैं।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad