Featured

Type Here to Get Search Results !

UP : स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को नहीं मिल रही थी छुट्टी, किया फिर ये अजीबो गीरीब करतूत

0

 कोविड 19 संक्रमण की शुरुआत से काम के बेतहाशा दबाव और छुट्टी नहीं मिलने की समस्या से परेशान होकर स्वास्थ्य विभाग के कुछ कर्मचारियों ने कोरोना की एंटीजन जांच में ही गड़बड़ी करा डाली। मामला सामने आने पर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. मिलिंद चंद्र गर्ग ने स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत सभी अधिकारियों व कर्मचारियों की एंटीजन रैपिड जांच में को लेकर कड़ी शर्त लगा दी है।

स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत एक दर्जन से ज्यादा कर्मचारियों की कोरोना एंटीजन जांच में गड़बड़ी उजागर हुई तो हड़कंप मच गया। पता चला कि इन कर्मचारियों की तरफ से एंटीजन जांच की रिपोर्ट को पॉजिटिव दर्शाए जाने के लिए खेल किया गया। एंटीजन जांच में कोरोना पॉजिटिव मिले किसी मरीज की लार के सैंपल को संबंधित कर्मचारी के सैंपल में मिला दिया गया। जिसके चलते उसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आ गई और इसी आधार पर कर्मचारी को छुट्टी मिल गई। एक के बाद एक करके कई कर्मचारियों की एंटीजन जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आते देख अधिकारियों ने मामले को संदेह की दृष्टि से देखकर पड़ताल कराई तो यह खेल सामने आया। जिसके बाद सीएमओ ने विभाग के अफसरों व कर्मचारियों के लिए एंटीजन जांच को लेकर कठोर शर्त तय कर दी।

शिकंजा: मेडिकल बोर्ड के सामने देना होगा सैंपल
मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ.मिलिंद चंद्र गर्ग ने इस संबंध में आदेश जारी करते हुए कहा कि जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत स्वास्थ्य सेवाओं का सुचारू संचालन सुनिश्चित करने के लिए यह निर्णय लिया गया है। जिसके मुताबिक विभाग के प्रत्येक अधिकारी व कर्मचारी को एंटीजन जांच के लिए अपना सैंपल तीन सदस्यीय मेडिकल बोर्ड के सामने देना होगा। तभी इसकी रिपोर्ट मान्य होगी। मेडिकल बोर्ड में एसीएमओ डॉ.दिनेश कुमार प्रेमी, डिप्टी सीएमओ डॉ.संजीव बेलवाल और नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कटघर के लैब टेक्नीशियन ललित कुमार शामिल रहेंगे।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad