Featured

Type Here to Get Search Results !

ट्रेन में आगलगी की घटनाओं को रोकने के लिए चला रही अभियान, आरपीएफ

0

ट्रेनों में होने वाली आगलगी की घटनाओं को रोकने के लिए आरपीएफ ने शुक्रवार को भी जागरूकता अभियान चलाया। इस दौरान प्लेटफार्म व ट्रेनों में यात्रियों से ज्वलनशील पदार्थ लेकर न चलने की अपील की गई। सिलेंडर, स्टोव, आतिशबाजी का सामान लेकर न चलने का आह्वान किया गया। साथ ही ज्वलनशील पदार्थ व धूम्रपान करने से होने वाली हानियों के बारे में बताया गया दी। ज्वलनशील पदार्थ से यात्रियों की जान व रेल संपत्ति का नुकसान होता है। घातक सामान को लेकर चलने वाले पर अब कार्रवाई होगी।

ट्रेनों की बोगियों के दरवाजे व खिड़कियों के पास ज्वलनशील पदार्थ व धूम्रपान करने से होने वाली हानियों के बाबत पंफलेट चस्पा होता है। इसकेबाद भी कुछ यात्री इससे अनजान बने रहते हैं। वे अपने साथ ज्वलनशील पदार्थ लेकर चलने लगते हैं। कई ऐसे भी यात्री मिल जाते हैं, जो चलती ट्रेन में सिगरेट, बीड़ी पीने लग जाते हैं। ट्रेन में हल्की सी चिंगारी से भी आग लग जाती है। कई बार तो ट्रेनें बर्निंग ट्रेन बनने से बच जाती हैं। जांच में पता चला है कि अधिकतर घटनाएं ज्वलनशील पदार्थों से ही होती है।

रेल संपत्ति व यात्रियों की सुरक्षा से खिलवाड़ करने वालों पर कार्रवाई होगी। आगलगी से न सिर्फ रेलवे को करोड़ों रुपये की संपत्ति का नुकसान होता है बल्कि लोगों की जान भी जोखिम में पड़ती है। वहीं रात के समय यात्री ट्रेन में अपना मोबाइल व लैपटाप चार्ज नहीं कर सकेंगे। इसके लिए भी रेलवे ने प्रावधान तैयार कर लिया है। केवल सुबह के समय ही बिजली के बोर्ड से मोबाइल चार्ज होगा। रात के समय ऐसा न करने की हिदायत दी गई है। वरीय मंडल सुरक्षा आयुक्त आशीष मिश्रा ने बताया कि गर्मी के समय आग लगने की घटनाएं बढ़ जाती हैं। इसके रोकथाम के लिए यात्रियों को जागरूक किया जा रहा है।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad