Featured

Type Here to Get Search Results !

जिले में आज तक कोरोना टीका का लक्ष्य पूरा न होने से बढ़ी चिता

0

जिले में आज तक कोरोना टीका का लक्ष्य पूरा न हो पाना चिता का सबब बना हुआ है। वह भी ऐसे समय में जब कोरोना संक्रमण फिर से बढ़ने लगा है। किसी-किसी दिन तो लक्ष्य के 50 फीसद भी टीकाकरण नहीं हो पा रहा है। अब तक केवल एक दिन 10 हजार लक्ष्य के सापेक्ष अधिकतम 72 सौ टीकाकरण हो पाया है।

स्वास्थ्य विभाग इसके लिए लोगों को जागरूक कर रहा है कि वह स्वास्थ्य केंद्रों तक पहुंचे और निश्शुल्क टीका लगाएं। लोगों की उदासीनता को देखते हुए शासन ने एक अप्रैल से 45 वर्ष से ऊपर वाले सभी लोगों को टीका लगाना शुरू कर दिया है। तीन अप्रैल से इसे और आसान बनाते हुए सभी केंद्रों पर रविवार को छोड़ प्रतिदिन टीका लगने लगा है। इससे कुछ हालात सुधरने की उम्मीद बढ़ी है। अगर फिर भी लक्ष्य के सापेक्ष संतोषजनक टीका नहीं लगता है तो स्वास्थ्य विभाग को अपनी रणनीति की फिर से समीक्षा करनी होगी।

स्वास्थ्य कर्मी फ्रंटलाइन वर्कर ही पीछे 

कोरोना का टीका लगवाने में आम आदमी तो कोताही कर ही रहा है लेकिन स्वास्थ्य कर्मी व फ्रंट लाइन वर्कर भी उत्साह नहीं दिखा रहे हैं। 16 जनवरी से जब टीका लगना शुरू हुआ तो सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मी व फ्रंट लाइन वर्करों को मौका दिया गया। कोरोना टीका की लोग काफी दिन से प्रतीक्षा कर रहे थे, लेकिन जब लगना शुरू हुआ तो पहले दिन ही लक्ष्य पूरा नहीं हो पाया। किसी भी केंद्र पर पहले से सूचीबद्ध सभी स्वास्थ्य कर्मी टीका लगवाने नहीं पहुंचे। इसके बाद जब फ्रंट लाइन वर्करों का टीका लगना शुरू हुआ तो उनका भी यही हाल रहा।

कोरोना टीका को लेकर लोगों में कुछ उदासीनता देखने को मिल रही है। यही कारण है कि आज तक एक भी दिन टीका का लक्ष्य पूरा नहीं हो पाया है। इसके लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है। अब 45 वर्ष से ऊपर के सभी लोगों को सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर रविवार छोड़ प्रतिदिन टीका लग रहा है। उम्मीद है अब टीका लगवाने वालों की संख्या बढ़ेगी।


Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad