Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

सलेमपुर गांव के खेत में आग लगने से 13 बीधे गेहूं की खड़ी फसल जलकर राख

0

स्थानीय क्षेत्र के एक गांव में अचानक खेत में आग लगने से कई बीघे गेहूं की फसल जल कर राख हो गयी। ग्रामीणों ने अथक प्रयास कर किसी तरह आग पर काबू पाया। खेत के ऊपर से कोई बिजली का तार भी नहीं गया है, फिर भी हुई इस अगलगी की घटना की वजह खेत में जलते हुए गांजा को फेंके जाने को बताया जा रहा है, जिसकी चिंगारी से खड़ी फसल में आग लग गयी है।


क्षेत्र के रामपुर सलेमपुर गांव स्थित सिवान में कई किसानों ने गेहूं की फसल लगायी थी, जो पूरी तरह पककर तैयार हो चली थी। वहीं शनिवार को अचानक खेत में आग लग गयी, जिससे करीब 12 से 13 बीघे में गेहूं की खड़ी फसल जलकर राख हो गयी। इस अगलगी में अवधेश बिंद की 1 बीघा, सुखराम बिंद की 2.5 बीघा, वीरेंद्र राम का 16 बिस्वा, रामधनी सेठ 3 बीघा, अमरनाथ, ऋषिकेश के 10-10 बिस्वा आदि किसानों के गेंहू की फसल जलकर नष्ट हो गयी है। अगलगी की सूचना फायर ब्रिगेड को दी गयी, परन्तु जब तक फायर ब्रिगेड की गाड़ी पहुंचती, तब तक कई बीघा गेहूं की फसल जल चुकी थी। 

मौके पर सैकड़ों ग्रामीणों की भीड़ जुट गयी थी और कड़ी धूप के बीच सभी आग बुझाने के प्रयास में लगे थे। बड़ी मुशक्कत के बाद किसी तरह आग पर काबू पाया जा सका। पीड़ित किसानों ने बताया कि खेत के ऊपर से बिजली का तार भी नहीं गया है। इसके बाद भी खेतों में अचानक आग लगने से खड़ी गेहूं की फसल जलकर नष्ट हो गयी। मौके पर उपस्थित अवधेश बिंद, सुखराम बिंद, भरत यादव, अमर नाथ ऋषिकेश, सुदर्शन आदि पीड़ित किसानों का कहना रहा कि किसी ने खेत के समीप स्थित पेड़ की छांव में बैठकर गांजा या बीड़ी पी होगी और फिर जलती हालत में ही उसे खेत की तरफ फेंक दिया होगा, जिसकी चिंगारी से धीरे-धीरे आग पकड़ ली होगी। 

इसके चलते करीब 12 से 13 बीघे में गेहूं की खड़ी फसल जलकर राख हो गयी। हम किसानों की गाढ़ी कमई पर पानी फिर गया है। वहीं अंत में फायर ब्रिगेड के वाहन भी पहुंच गये थे, जो खेत से उठ रहे धुएं को बुझाने का काम किये। कुछ देर के बाद क्षेत्रीय लेखपाल भी मौके पर पहुंच गये और पीड़ित किसानों से पूछताछ कर क्षति की रिपोर्ट लगायी।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad