Welcome to Dildarnagar!

Featured

Type Here to Get Search Results !

गाजीपुर: जिलाधिकारी एमपी सिंह ने सात सप्लाई इस्पेक्टर का रोका वेतन

0

जिलाधिकारी एमपी सिंह शनिवार को राइफल क्लब सभागार में विभागों के कार्यो की समीक्षा बैठक की। इस दौरान कार्यो में लापरवाहीं बरतने वालों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई करते हुए जिला पूर्ति विभाग के सात सप्लाई इंस्पेक्टर का वेतन रोकते हुए डीएसओ को कारण बताओ नोटिस जारी करने का निर्देश दिया। जिसके बाद कर्मचारियों सहित अधिकारियों में हडकंप मच गया। वहीं समीक्षा बैठक में बीएसए श्रवण कुमार गुप्ता के शामिल नहीं होने पर नराजगी जताई।

कचहरी स्थित राइफल क्लब सभागार में शासन की ओर से चलने वाली योजनाओं के 37 बिंदुओं पर डीएम की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक हुई। इसमें प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, निराश्रित गोवंश, चिकित्सकों, प्रधनमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत आयुष्मान भारत-गोल्डन कार्ड, हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर, सामुदायिक शौचालय, ऑपरेशन कायाकल्प, हैण्डपम्पों का रीबोर/मरम्मत, ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन निर्माण, अमृत योजना, स्वच्छ भारत मिशन, खाद्य सुरक्षा योजना, कोटे की रिक्त दुकानों का व्यवस्थापन, मत्स्य पालन के लिए तालाबों का आवंटन, सामुहिक विवाह योजना, पेंशन योजनाए, छात्रवृत्ति वितरण, शादी अनुदान योजना, कन्या सुमंगला योजना, श्रमिक पंजीयन, मानधन योजना, आईजीआरएस सहित अन्य परियोजनाओ पर विस्तारपूर्वक चर्चा किया। 

इस दौरान जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी श्रवण कुमार गुप्ता के अनुपस्थित होने पर डीएम ने नाराजगी जताई। वहीं जनपद में 31 कोटे के दुकानो के सापेक्ष केवल 13 दुकानो के व्यवस्थापन होने पर सख्त कार्रवाई करते हुए सात सप्लाई इंस्पेक्टर का वेतन रोकने व जिलापूर्ति अधिकारी कुमार निर्मेलेंदु को कारण बताओ नाटिस जारी करने का निर्देश दिया। वहीं फसल बीमा योजना में अधिक से अधिक किसानो का बीमा का लाभ दिलवाने तथा न्याय पंचायत स्तर पर कमेटी का गठन कर प्रत्येक सीजन मे बैठक कर विचार विमर्श एवं सर्वे कराने के लिए कृषि अधिकारी को भी निर्देशित किया। जिलाधिकारी एमपी सिंह ने कहां कि सीएमओ डा.जीसी मौर्या को आयुष्मान गोल्डेन कार्ड बनने की धीमी गति पर कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया। 

उन्होने कहा कि एक अभियान चलाकर गोल्डेन कार्ड बनाने जाय, जनपद में 29 हेल्थ वेलनेस सेन्टर जो क्रियाशील नही है, उसकी जानकारी लेते हुए शुरू कराने का निर्देश दिया। डीएम ने डीपीआरओ को भी तत्काल समुदायिक शौचालय पूर्ण करने का निर्देश दिया। नगर में सड़क के कार्यो की जानकारी लेते हुए इसे जल्द पूर्ण करने के लिए कहा। जिलाधिकारी एमपी सिंह ने कहा कि अधिकारी की निष्क्रियता के कारण जनपद की रैकिंग खराब होती है। और वे दण्ड के भागीदार होते है। इसलिए उनका दायित्व है कि वे अपने-अपने विभागो के कार्यो के प्रति सजग रहे तथा एक कार्य योजना बनाकर कार्यो को पूरा करे। इस दौरान सीडीओ श्रीप्रकाश गुप्ता, सीएमओ डा.जीसी मौर्या सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad