Featured

Type Here to Get Search Results !

गाजीपुर में पंचायत चुनाव नामांकन की लंबी कतार में कोविड प्रोटोकाल तार-तार

0

गाजीपुर में कोरोना की तेज रफ्तार और बढ़ते संक्रमण के बीच शनिवार को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का पहले दिन नामांकन का आगाज हुआ। विकास खंड और जिला मुख्यालय पर कोरोना का प्रोटोकाल दिन भर तार-तार होता रहा। नामाकंन के दौरान भीड़ एकत्रित न करने व जुलूस न निकलने की बात हवा हो गई, बावजूद इसके शनिवार को नामांकन के पहले दिन आयोग के निर्देशों की धज्जियां उड़ गई। कोविड-19 के नियमों का पालन कराने वाले जिम्मेदार भी गायब थे। 

40 डिग्री तापमान में प्रत्याशियों ने घंटों कतार में लगकर अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। प्रत्याशी और उनके साथ आने वालों का आलम यह था कि शोसल डिस्टेंसिंग कहीं नहीं दिखी। प्रत्याशियों की कतार में खूब धक्का मुक्की हुई और सभी एक-दूसरे से सटकर खड़े थे। कुछ के चेहरे पर मास्क नहीं था, कईयों ने नाम का मास्क सिर्फ चेहरे पर लगा कर रखा हुआ था। ऐसे में कोरोना संक्रमण को रेकने के लिए जिला प्रशासन के सभी दावे फेल साबित होते नजर आए। हालांकि मीडिया को देखते ही अधिकारी सक्रिय हुए और बिना मास्क वालों का चालान भरा गया, वहीं हर प्रत्याशी की कोविड जांच भी की गई।

जिले में चौथे चरण में होने वाले पंचायत चुनाव के लिए शनिवार की सुबह आठ बजे से नामांकन कार्य शुरु हुआ। गहमा-गहमी के बीच जिला पंचायत सहित सभी ब्लाक में नामांकन प्रकिया शुरु हुई। इसको लेकर नामांकन स्थल सहित आसपास पुलिस का कड़ा पहरा दिखा। किसी प्रकार की अव्यवस्था न हो, इसके मद्देनजर नामांकन स्थलों के आसपास बैरिकेडिंग की गई थी। अंदर सिर्फ प्रत्याशी और प्रस्तावक को जाने की अनुमति थी मगर लोग समर्थक लेकर पहुंचे थे। भीड़ को नामांकन स्थल से 200 मीटर पहले की रोक दिया गया था। राइफल क्लब में नामांकन के लिए प्रत्याशियों की लम्बी लाइन लगी रही। इस दौरान जो भी कोविड-19 का उल्लंघन करते हुए पाया गया, उसके खिलाफ कार्रवाई की गई। जिला मुख्यालय पर चल रहे नामांकन में कई लोग बिना मास्क लगाए गए थे। ऐसे लोगों पर नजर पड़ने पर पुलिस कार्रवाई की। मास्क न लगाने पर अन्य लोगों के साथ ही कई प्रत्याशियों का पुलिस ने चालान काटा।

इससे लोगों में हड़कंप की स्थित रही। नामांकन स्थलों के आसपास का नजारा देखते ही बन रहा। प्रत्याशियों के साथ आए समर्थक नामांकन स्थल से दूर इधर-उधर बैठे और खड़े रहै, इससे मेला जैसा नजारा दिख दिया। कई मार्गों पर बैरिकेडिंग कर आवागमन को प्रतिबंधित किया गया है। इससे लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। दूसरे मार्गों से गंतव्य तक पहुंचना पड़ा। अन्य मार्गों पर आवागमन का दबाव बढ़ने की वजह से कई बार लोगों को जाम का सामना भी करना पड़ा।नामांकन प्रक्रिया का जिलाधिकारी मंगला प्रसाद सिंह, पुलिस अधीक्षक डा. ओमप्रकाश सिंह, सदर एसडीएम अनिरुद्ध प्रताप सिंह, सदर सीओ ओजस्वी चावला सहित अन्य उच्चाधिकारी लगाताक चक्रमण कर शांति व्यवस्था का जायजा लेते रहे।

सदर कोतवाल विमल मिश्रा, विशेश्वरगंज चौकी प्रभारी बालेंद्र यादव, महिला थानाध्यक्ष ममता, यातायात प्रभारी प्रवीण यादव सहित अन्य पुलिस अधिकारी और कर्मी सुरक्षा व्यवस्था में तैनात रहे। अधिकारी जहां भी अव्यवस्था दिखी, संबंधितों को फटकार लगाते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश देते रहे। शाम पांच बजे तक नामांकन कार्य किया गया, दूसरे दिन रविवार को भी पर्चा भरा जाएगा।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad