Type Here to Get Search Results !

UP : दूसरे चरण में एक लाख स्वास्थ्य कर्मियों को लगी कोविड-19 वैक्सीन

0

उत्तर प्रदेश में वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में शुक्रवार को 1537 केन्द्रों व बूथों पर टीकाकरण किया गया। लखनऊ स्थित चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के कन्ट्रोल रूम को प्रदेश भर से प्राप्त सूचना के अनुसार शाम तक 1, 00658 लोगों को टीके लगाए जा चुके थे। इस दौरान कहीं से भी कोई अप्रिय घटना की सूचना नहीं प्राप्त हुई है।

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि कोविड टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य कर्मियों को प्राथमिकता दी गई है। अभी स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि 22 जनवरी के अतिरिक्त 28 और 29 जनवरी को भी स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जाएगा। तीन दिवसीय टीकाकरण अभियान में 4,450 टीकाकरण सत्र आयोजित होंगे। इन तीन दिनों में 4,45,000 स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण होगा। अगले सप्ताह से प्रत्येक गुरुवार व शुक्रवार को कोविड-19 का टीकाकरण किया जाएगा।

अपर मुख्य सचिव ने बताया कि शुक्रवार को प्रदेश में टीकाकरण के लिए चिन्हित 1537 स्थानों पर टीका लगाने का कार्य हुआ। अभियान में 16 जनवरी के टीकाकरण में छूटे हुए स्वास्थ्य कर्मियों को भी शामिल होने का अवसर दिया गया। उन्होंने कहा कि अन्य टीकों की भांति इस टीके को लगाने के बाद एक-दो दिन का सामान्य बुखार या अन्य मामूली स्वास्थ्यगत समस्याएं हो सकती हैं, जो स्वतः ही ठीक हो जाती हैं। 16 जनवरी को हुए टीकाकरण के सभी स्वास्थ्य कर्मी अब स्वस्थ हैं।

उन्होंने कहा, मैंने स्वयं टीका लगवाया है और सभी से अनुरोध है कि इस जानलेवा वैश्विक महामारी से बचाव के लिए अपनी बारी आने पर टीकाकरण करवाएं। उन्होंने बताया कि ‘टीकाकरण के दौरान सभी सुरक्षा के नियमों का पालन किया जा रहा है। सुरक्षा के सभी इन्तजाम किए जा चुके हैं। कोल्ड चेन प्वाइन्टस पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं और टीकाकरण सत्र की निगरानी भी सीसीटीवी द्वारा की जा रही है। टीकाकरण सम्बन्धी किसी भी समस्या के लिए राज्य हेल्पलाइन नम्बर-104 और राष्ट्रीय हेल्पलाइन नम्बर- 1075 पर सम्पर्क किया जा सकता है।’

प्रदेश के सभी जिलों में संचालित इस अभियान के पहले दिन 16 जनवरी को स्वास्थ्य विभाग के महानिदेशक स्तर के अधिकारियों से लेकर सभी संवर्ग मसलन चिकित्सक, लैब टेक्नीशियन, स्टाफ नर्स, विभागीय ड्राइवर और सफाई कर्मियों के साथ ही निजी क्षेत्र के चिकित्सकों का टीकाकरण भी कराया गया है, जो कि इस अभियान के प्रति विश्वास का परिचायक है।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad